चारा घोटाले में लालू यादव को सबसे बड़ी सजा

चारा घोटाले में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार को उम्मीद थी कि फैसला उनके पक्ष में आयेगा लेकिन पूर्व मुख्य मंत्री लालू यादव को एक ओर बड़ा झटका लगा है। चारा घोटाले के चौथे मामले में लालू यादव को आरजेडी प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। चारा घोटाले के चौथे मामले में
सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू यादव को दोषी पाते हुए 14 साल की सजा सुनाई गई है। इसके अलावा लालू पर 60 लाख का जुर्माना भी लगाया गया है। जुर्माना नहीं देने पर 1 साल की और सजा भुगतनी होगी। चारा घोटाले से जुड़े मामलों में लालू को मिली ये सबसे बड़ी सजा है। इतना ही नहीं लालू यादव के साथ 18 और लोगो को सजा सुनाई है।

सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने लालू को यह सजा दुमका कोषागार से 3 करोड़ और 13 लाख रूपए के गबन मामले में सुनाई है। लालू यादव पर अवैध तरीके से पैसा निकलने का मुकदमा दर्ज था। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ने लालू को आपराधिक षड्यन्त्र, गबन, फर्जीवाड़ा, साक्ष्य छिपाने, पद के दुरुपयोग आदि से जुड़ी भारतीय दंड संहिता की धाराओं 120बी, 409, 420, 467, 468, 471, 477ए के साथ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत दोषी पाया.

विषेश न्यायाधीश ने लालू यादव को सात साल कैद की सजा सुनाई है। लालू को सुनाई गई दोनों सजाये एक के बाद एक चलेंगीं। इस तरह लालू प्रसाद को कुल 14 साल की सजा हुई । इसके अलावा उन पर 30-30 लाख का कुल 60 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*