विद्यालय में शौचालय की व्यवस्था ना होने पर छात्र-छात्राओं ने दिए नाम काटने के पत्र

फतेहाबाद। भारत सरकार देश को खुले में शौच से मुक्त कराने की कवायदें कर रही है लेकिन सरकार की यह कवायद नाकाफी साबित हो रही है। ऐसा ही कुछ नजारा आजकल फतेहाबाद के घाघपुरा स्थित सरकारी स्कूल में देखने को मिल रहा है। शौचालय की व्यवस्था ठीक ना होने से छात्राओं को खुले में शर्मसार होना पड़ रहा है। इसी से आजिज आकर शनिवार को करीब २ दर्जन से अधिक छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शन किया और प्रधानाचार्य और ग्राम प्रधान को नाम कटवाने के लिए प्रार्थना पत्र सौंपा।

उन्होंने कहा कि विद्यालय में शौचालय ठीक-ठाक नहीं है तो वहीं उसका गेट भी टूटा हुआ है। जिसके चलते विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को लघुशंका के लिए बाहर खेतों में जाना पड़ता है। इस कारण उन्हें शर्मिंदगी झेलनी पड़ती है।

प्रधानाध्यापक और ग्राम प्रधान को पत्र देकर बच्चों ने कहा कि जब तक विद्यालय में शौचालय की व्यवस्था ठीक नहीं होती तब तक हमें स्कूल में पढ़ने नहीं आएंगे। सभी छात्र छात्राओं ने गांव में निशुल्क शिक्षा देने वाले दिव्यांग शिक्षक श्रीकांत सिसोदिया के माध्यम से पत्र लिखे।

इनमें प्रमुख रुप से आशीष, कृष्णा, रूप सिंह, वीरेंद्र, अतुल, गगन, कुमारी अनु, भूपेंद्र, साहिल, प्रशांत, चांदनी, रोजी, प्रिया, रवि, गौरीशंकर , गौरव, समीर सहित करीब दो दर्जन से अधिक छात्र छात्राओं ने अपना नाम कटवाने के लिए पत्र सौंपा।

बच्चों के प्रदर्शन देखकर ग्राम प्रधान ने 3 दिन में शौचालय की व्यवस्था ठीक करवाने का आश्वासन देकर छात्र-छात्राओं को मनाया और मन से पढ़ाई करने की बात कही।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*