Home agra आगरा में निजी स्कूल के शिक्षक ने ड्रेस कोड में नहीं आने पर बालक को डंडे से बुरी तरह पीटा

आगरा में निजी स्कूल के शिक्षक ने ड्रेस कोड में नहीं आने पर बालक को डंडे से बुरी तरह पीटा

by admin
In Agra, the teacher of a private school beat up the boy badly with a stick for not coming in the dress code.

आगरा। आगरा में निजी स्कूल के शिक्षक ने ड्रेस कोड में नहीं आने पर बालक को डंडे से बुरी तरह पीटा।

धनौली मलपुरा के एक निजी विद्यालय में बेरहम अध्यापक ने सारी हदें पार कर दीं। ड्रेस कोड में नहीं आने पर नौ साल के बालक को डंडे से बुरी तरह पीट दिया।

विद्यालय के पूरे वक्त बालक दर्द से कराहता रहा। उसने बीच.बीच में घाव दिखाकर घर जाने की गुहार लगाई लेकिन बेरहत शिक्षक का दिल नहीं पसीजा। स्कूल की छुट्टी होने के बाद उसकी पट्टी कराई । फिर घर लेकर पहुंचा। बेटे की हालत देख मां ने पुलिस बुला ली।

धनौली के नगला भगत में राज पब्लिक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय है। उसमें पास ही का मीतेश पुत्र साहब सिंह कक्षा 2 में पढ़ता है। मीतेश की मां बेबी ने बताया कि बुधवार को मीतेश ड्रेस कोड के हिसाब से स्कूल में टीशर्ट पहनकर नहीं गया था। इस पर अध्यापक ने उसे कक्षा से बाहर निकाल लिया। फिर बेरहम अध्यापक ने हाथ में डंडा उठा लिया। उससे प्रहार करने लगा।

पहला डंडा पड़ते ही बालक की चीख निकल गईए लेकिन बेरहम अध्यापक यहीं नहीं थमा। उसने कई सारे वार किए। छात्र की दाईं बाजू पर डंडे के निशान पड़ गए। सिर से भी खून भी निकल आया। बेसुध होकर बालक जमीन पर गिर पड़ा।

इसके बाद उसे उठाकर मेज पर लिटा दिया। कुछ देर में बालक को होश आया। वह निशान दिखाकर घर जाने की गुहार लगाने लगा। इसके बाद भी अध्यापक ने उसे घर नहीं भेजा। यहां बालक के सिर पर मरहमदृपट्टी और आंखों में आंसू देख मां और बड़े भाई आशू के होश उड़ गए। मां ने बेटे को सीने से लगा लिया। इसके बाद पीड़ित ने खुद पर हुआ अत्याचार बयां किया।

उन्होंने कंट्रोल रूम पर फोन कर पुलिस बुला ली। पुलिस जख्मी छात्र और अध्यापक को थाने ले गई। यहां से बालक को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया। थाना प्रभारी तेजवीर सिंह ने बताया कि तहरीर नहीं मिली है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: