यूथ फेस्टिवल प्रगति 2018 में विवि के छात्रों की दिखी बहुमुखी प्रतिभा

आगरा। डॉ. बी. आर. आंबेडकर विश्वविद्यालय में पहली बार एक नया प्रयोग के तहत विश्वविद्यालय के सभी आवासीय संस्थानों के समस्त विभागों को जोड़ते हुए एक भव्य यूथ फेस्टिवल प्रगति 2018 का आयोजन किया गया। इस प्रदर्शनी का उद्घाटन विधान परिषद की आश्वासन समिति के सभापति लक्ष्मी नारायण शर्मा और कुलपति डॉ. अरविन्द दीक्षित ने फीता काटकर और दीप प्रज्वलन कर किया।

आवासीय संस्थानों के सभी विभागों के छात्र-छात्राओं ने इस फेस्टिवल में अपने स्टॉल लगाए थे और विभाग की ओर से किए जा रहे शोध कार्यों व अन्य पाठ्यक्रमों को मॉडल को शानदार तरह से प्रस्तुत किया।

फेस्टिवल प्रगति 2018 की कोऑर्डिनेटर डॉ विनीता सिंह ने बताया कि यह एक नए तरह का अनूठा प्रयास करने का माध्यम प्रयास किया गया है जिसमें छात्र छात्राएं एकेडमिक के अलावा आर्ट एंड क्राफ्ट कल्चरल इसके साथ-साथ विभिन्न तरह के अपनी प्रतिभाओं को प्रदर्शित कर रहे हैं। साथ ही विभाग की ओर से किए जा रहे कार्यों को भी यह दिखाने का प्रयास किया जा रहा है।

3 दिन चलने वाले इस फेस्टिवल में सुबह विभिन्न प्रतियोगिताएं होंगी। क्विज कंपटीशन पोस्टर कंपटीशन आएंगी तो वहीं शाम को प्रतिदिन कल्चरल इवेंट होंगे। जिसमें सोलो ग्रुप स्पेशल तीन ग्रुप बनाए गए हैं। समापन रविवार शाम को होगा। प्रयास यही है कि सभी छात्र एक मंच पर एक प्लेटफार्म पर आकर अपनी हर तरह की प्रतिभा को यहां प्रदर्शित करें।

इस फेस्टिवल में छात्र-छात्राओं की प्रतिभा का प्रदर्शन नजर भी आया। स्कूल ऑफ लाइफ साइंस के छात्रों की ओर से बहुत ही शानदार मॉडल प्रस्तुत किए गए थे। वानिकी विभाग की ओर से बनाई गई वॉल गार्डन सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रहा था। विभाग के छात्र इरफान ने बताया कि घरों में वेस्ट मटेरियल का इस्तेमाल करते हुए दीवारों को बहुत खूबसूरत बनाया जा सकता है और यहां पर पौधे रोपित कर घर के भीतर एक अच्छा माहौल पैदा किया जा सकता है।          

वहीं टिशू कल्चर की लगाए गए मॉडल भी सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रही थी जिसमें बताया गया था कि पौधों की जो प्रजाति खतरे में है उसको बचाने के लिए इस तकनीक का इस्तेमाल करते हुए सबसे शानदार क्वालिटी के एक पौधे के माध्यम से सैकड़ों-हजारों पौधे तैयार किए जा सकते हैं ।और कहीं ना कहीं और यही तकनीक प्लांट क्लोनिंग में भी इस्तेमाल हो रही है।

इसी तरह से पत्रकारिता विभाग की ओर से भी यहां संचार के विभिन्न माध्यम प्रदर्शित किए गए थे तो ललित कला संस्थान की ओर से शानदार ड्राइंग यहां सभी को आकर्षित कर रही थी। होम साइंस इंस्टिट्यूट की छात्राओं की ओर से से भी शानदार और आकर्षक स्थल लगाकर विभिन्न तरह के सामान को प्रदर्शित किया गया था। इन सभी के बीच हाल ही में विश्वविद्यालय में शुरू की गई गुलाब जल बनाने की तकनीक भी प्रदर्शित की गई थी। यहां विश्वविद्यालय की ओर से बनाया गया गुलाबजल भी सब को अपनी ओर खींच रहा था।

यह फेस्टिवल अभी 3 दिन चलेगा। जिसमें विभाग विभिन्न तरह के और कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। इसके अलावा प्रतिदिन नए-नए इवेंट्स व एक्टिविटी यहां होती रहेंगी जो छात्रों को प्रोत्साहित करती रहेगी। भीषण गर्मी के चलते खुले मैदान में एक कार्यक्रम में भीड़ जुटाना कहीं ना कहीं एक बड़ी चुनौती था तो वहीं जिन लोगों ने स्टॉल लगाया है उनके लिए भी पूरे दिन धूप में बने रहना किसी बड़ी समस्या से कम नहीं था। लेकिन फिर भी वह विश्वविद्यालय के इस प्रयास में अपना सहयोग करते हुए चिलचिलाती गर्मी में अपने विभाग का प्रतिनिधित्व कर रहे थे।

About admin 5970 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*