सांसद हेमामालिनी की वर्षों की इच्छा हुई पूरी

मथुरा। स्वयं प्रकट ठा. राधारमण लाल के मंदिर में आयोजित सेवा महोत्सव में उस समय श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा जब मथुरा सांसद व सिनेतारिका हेमा मालिनी मीरा के रूप में ठाकुर जी के समक्ष नृत्य प्रस्तुत करती दिखाई दी। रंग-बिरंगी रोशनी और मेबो-पुष्पों से सजे मंदिर के चौक में जैसे ही शास्त्रीय संगीत पर सांसद हेमामालिनी ने ठा. राधारमण लाल के सामने मीराबाई के रूप में नृत्य प्रस्तुत किया वैसे ही सम्पूर्ण मंदिर परिसर ठाकुर राधा रमण लालजू के जयकारों से अनुगुंजित हो उठा।

इससे पहले आचार्य पुण्डरीक गोस्वामी के नेतृत्व में ठाकुर जी की आरती उतारी गई जिसके दर्शनों के लिये देर रात्रि तक देशी विदेशी श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा रहा।

कोलकाता से आए सरोद वादक आतिश मुखोपाध्याय, भजन गायक जेएसआर मधुकर और गायिका तेजस्वनी दीदी ने मीराबाई के भजनों की प्रस्तुति देकर मंत्रमुग्ध कर दिया। इस संबंध में आचार्य पुण्डरीक गोस्वामी ने बताया कि उत्साह ही उत्सव का मूल स्वरूप है। प्रीति से निवृत्ति सुलभ हो जाती है।

इस मौके पर सांसद हेमामालिनी ने बताया कि उनकी इच्छा थी कि अपने आराध्य राधाकृष्ण की इस लीला भूमि में राधारानी और मीराबाई के रूप में नृत्य प्रस्तुति देकर ब्रजवासियों को संगीत कला के साथ प्रभु की भक्ति की मनोरम अनुभूति कराएं। उनका वर्षों पुराना सपना आज पूरा हुआ। इससे पहले वृंदावन में ब्रज महोत्सव में मैंने राधारानी के रूप में प्रभु राधाकृष्ण लीलाओं का मंचन किया था और अब प्रभु राधारमण लाल ने मीराबाई के रूप में प्रस्तुति की इच्छा भी पूरी हुई।

रिपोर्ट – जीवन दीप कल्यान मथुरा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*