इस दानव को ख़त्म करने के लिए बाबा ने शुरू की पदयात्रा

आगरा। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, महिला सशक्तिकरण और समाज से दहेज रूपी दानव प्रथा को खत्म करने के लिए समाज सेवी बाबा हर नारायण यादव ने बीड़ा उठाया है। समाज को इसके प्रति जागरुक बनाने के लिए बाबा हर नारायण यादव ने विश्व महिला दिवस यानी 8 मार्च से पदयात्रा शुरू की है।

शनिवार को बाबा की यह यात्रा आगरा पहुंची। शहीद स्मारक पर इस यात्रा के पहुंचने पर समाजसेवियों ने बाबा हरिनारायण यादव का जोरदार स्वागत किया। इस यात्रा के शहीद स्मारक पर पहुंचते ही बाबा ने चारों ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने और समाज से दहेज प्रथा को खत्म करने जैसे बैनर लगाए और लोगों से इन को जीवन में उतारने की अपील की।

बाबा हरनारायण ने यह यात्रा इटावा से शुरू की है और फिरोजाबाद होते हुए आगरा पहुंचे हैं। बाबा की यह यात्रा यहां से मथुरा वृंदावन होते हुए अन्य राज्यों में भी पहुंचेगी जहां पर समाजसेवियों के साथ मिलकर महिलाओं को सम्मान दिलवाने की अपील करेंगे। बाबा हरिनारायण इससे पहले भी इस संकल्प को लेकर कई अभियान चला चुके हैं लेकिन बाबा हरनारायण की जो मांग है वह अभी साकार होती हुई नजर नहीं आई है।

आगरा पहुंचे बाबा हरनारायण पत्रकारों से भी रूबरू हुए। पत्रकार वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि आज पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को सम्मान कम मिलता है। घर में अगर बेटा पैदा ना हो और बेटी पैदा हो जाए तो उस बेटी को इस दुनिया से मिटाने की पहल करने लगते हैं। बेटी की शादी भी हो जाए तो उसके बाद भी दहेज़ के दानव उसकी बलि लेने का प्रयास करते हैं। समाज में आज बेटियां सुरक्षित नहीं है जबकि इस देश में देवी की पूजा की जाती है।

शहीद स्मारक पहुंचे समाजसेवियों ने भी बाबा हरिनारायण की इस पहल का स्वागत किया। उनका कहना था कि अगर बाबा इस उम्र में इस संकल्प को पूरा करने के लिए पूरे देश का भ्रमण कर सकते हैं तो आम जनमानस को भी इसके प्रति जागरुक होना होगा, जिससे समाज से महिलाओं के प्रति बढ़ने वाले अपराध को रोका जा सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*