केंद्र सरकार से पत्र आने के बाद आगरा में भी पोलियो वैक्सीन को किया गया सीज

आगरा। देश से पोलियो को जड़ से खत्म करने के लिए देश की सरकार प्रयास कर रही है तो कुछ दवा कंपनियों ने अपने निजी स्वार्थ के लिए संक्रमित पोलियो की दवा का ही देश में वितरण कर दिया। अब तक इस दवा को लाखों बच्चे पी चुके है। मिर्जापुर में पोलियो की दवा पीने के बाद भी बच्चों में पोलियो के लक्षण दिखे। केंद्र सरकार ने बायोमेड फार्मा कंपनी की पोलियो की दवा पर रोक लगाते हुए उसकी जांच कराई तो वो संक्रमित दवा निकली।

केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे पोलियो अभियान के तहत बायोमेड फार्मा से अगस्त माह में आगरा को करीब 65 हजार वैक्सीन आई थी। इनमें 11 वैक्सीन में से करीब 1.98 लाख बच्चों को पोलियो वायरस टाइप 2 एंटीजन वाली संक्रमित दवा पिलाई जा चुकी है।

इस मामले की जानकारी होते ही डिस्ट्रिक्ट इन्वेंशन ऑफिसर डॉक्टर विनय कुमार ने बताया कि अभियान के बीच इस संबंध में केंद्र सरकार से पत्र मिला है कि पोलियो वैक्सीन किसी भी बच्चे को न पिलाई जाए। इसके बाद से ही बायोमेड की शेष वैक्सीन को रोक दिया गया है। सीएमओ कार्यालय में 49 हजार और मंडल कार्यालय में 5 हजार वैक्सीन सीज कर दी है। डिस्ट्रिक्ट इन्वेंशन ऑफिसर डॉक्टर विनय कुमार ने बताया कि आगरा में कई जगह से सेम्पलिंग कराकर दिल्ली लैब भेजे थे जिसमे इस पोलियो वायरस की पुष्टि नहीं हो पाई है।

सीएमओ मुकेश वत्स का कहना है कि जैसे ही केंद्र सरकार का पत्र मिला। बायोमेड फर्मा की वैक्सीन को सीज कर दिया गया जिन्हें वापस किया जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*