भारत बंद का असर आगरा में, पुलिस के व्यापक इंतजाम, आगरा बना छावनी

आगरा। 2 अप्रैल को दलित समाज का भारत बंद के बाद 10 अप्रैल को स्वर्ण समाज के भारत बंद के आह्वान को लेकर मंगलवार सुबह से ही सड़कों पर पुलिस की चौकसी देखी जा रही थी। ताजनगरी के सभी चौराहों को पुलिस ने छावनी बना दिया। आरएएफ, पीएसी, सिविल फोर्स के साथ में मजिस्ट्रेटों को तैनात किया गया और पुलिस के आला अफसर मीडिया के जरिए लोगों से अपील करते नजर आए। साथ ही साथ आगरा के सोशल मीडिया ग्रुप पर भड़काऊ बयानबाजी करने वाले लोगो पर पुलिस पूरे नजर रखे हुए हैं। एसएसपी आगरा अमित पाठक का कहना है कि सारी व्यवस्थाएं कर ली गई है। पुलिस कंट्रोल रूम को प्रभावी बनाया गया है और हर एक गतिविधि पर नजर रखें हुए है।

ताजनगरी आगरा की अगर बात करें आगरा में सवर्ण समाज के लोगों ने भारत बंद का आह्वान किया था। हालांकि 2 दिन पूर्व ही पुलिस प्रशासन से हुई बातचीत के दौरान स्वर्ण समाज ने आगरा में भारत बंद का आह्वान वापस लिया था मगर मंगलवार को दहशत में आए ताजनगरी आगरा के व्यापारियों ने खुद ही अपनी दुकानें बंद कर दी और कुछ इलाकों के स्कूलों को बंद कराया गया। आगरा के नाई की मंडी, ढाकरान चौराहे को छावनी बना दिया गया। कलेक्ट्रेट जिला मुख्यालय से लेकर आसपास की सड़कों पर पुलिस की मुस्तैदी देखी गई। जिले के पुलिस कप्तान अमित पाठक का कहना था कि सोशल मीडिया पर बयानबाजी करने वाले नेताओं पर नजर रखे हुए है और लगातार अभियोग पंजीकृत किए जा रहे हैं।

आगरा में सवर्ण समाज के आवाहन पर भारत बंद का असर आपको दिखाते हैं। नाई की मंडी आगरा चौराहे पर व्यापारियों ने अपने आप ही बाजार बंद रखा। राजपुरचुंगी सदर और राजा मंडी बाजार बंद रहा। इसके अलावा व्यवसायिक क्षेत्र माने जाने वाले संजय प्लेस और फ्रीगंज बेलनगंज के बाजार भी बंद रहे। एतिहातन तौर पर लोग अपने लोगों ने अपने बच्चों को स्कूल नहीं जाने दिया तो वही चौराहे पर तैनात पुलिस बल का नजारा ऐसा कि मानो पूरे आगरा को छावनी बना दिया गया। इस दौरान लोगों का कहना था कि 2 अप्रैल को दलित समाज के लोगों का हिंसक आंदोलन किया। लूटपाट बलवा आगजनी और फायरिंग की। इसके विरोध में सवर्ण समाज के लोगों ने अपना बाजार बंद कर विरोध जताया है।

इधर पुलिस सोशल मीडिया पर नजर रखे हुए हैं। लगातार फ्लैग मार्च भी किया जा रहा है जिससे ताजनगरी आगरा के हालात सामान्य रहे। मोहब्बत की नगरी आगरा में लोग मोहब्बत से रहें और कोई भी चिंगारी शोला ना बने। इसको लेकर पुलिस के आला अफसर सोशल मीडिया सर्विलांस और शहर भर में नजर रखे हुए हैं।

About admin 5846 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*