आरक्षण बंद को लेकर सबसे ज्यादा यहाँ लगाईं गयी सुरक्षा, भारत बंद के दौरान हुआ था काफी नुकसान

आगरा। एसटी एससी एक्ट को लेकर सर्वोच्च न्यायालय के आये आदेश के बाद दलित समाज की ओर से बुलाये गए भारत बंद के दौरान दलित समाज ने इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए रेलवे का चक्का जाम करने के लिए रेलवे की पटरियों को उखाड़ फेका था जिससे रेलवे के सभी ट्रेनों के पहिये जाम हो गए थे और यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

लेकिन आरक्षण के विरोध में सवर्ण और ओबीसी समाज की ओर से बुलाये गए भारत बंद के दौरान फिर से यही हिंसा और रेलवे स्टेशनों और रेलवे ट्रैक पर न हो इसके लेकर जीआरपी और आरपीएफ मंगलवार सुबह से ही स्टेशनों और रेलवे ट्रैक पर अधिक सुरक्षा बल नजर आया। सुबह से ही आगरा रेल मंडल के तमाम स्टेशनों पर यात्री भी न के बराबर नजर आये।

शायद बंद के दौरान हिंसा देख चुके यात्रियों ने 10 अप्रैल के बंद में यात्रा करना मुनासिब नहीं समझा। रेलवे अधिकारियों के दिशा निर्देश पर जीआरपी और आरपीएफ के जवान को उन क्षेत्रो में भी तैनात कर दिए गए जहाँ दलित आंदोलन के दौरान लोगों ने ट्रैकों को उखाड़ फेका था।

इतना ही नहीं जीआरपी और आरपीएफ मिलकर रेलवे ट्रैकों पर लगातार गस्त भी कर रही है जिससे अगर कोई आंदोलनकारी रेलवे ट्रैक की तरफ बड़े तो उसे मौके पर ही रोक दिया जाये। एसपी रेलवे ने सभी जीआरपी थानों को इस सम्बन्ध में सुरक्षा मजबूत करने और मॉनिटरिंग करने के निर्देश जारी किये है।

About admin 5898 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*