राजबब्बर की इस्तीफ़ा हुआ मंजूर, इन्हें मिल सकती है प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी

बीती रात से कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर के इस्तीफा देने और उसे स्वीकार किए जाने की लगाए जा रहे कयास पर मोहर लगी गई है। सूत्रों के मुताबिक हाईकमान ने राज्यसभा सांसद के उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष पद खाली होने के बाद अब यह जिम्मेदारी किसे दी जाए इसके लिए हाईकमान विचार विमर्श कर रहा है। क्योंकि इस बार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की कमान ऐसे व्यक्ति को सौंपी जाएगी जिससे आने वाले लोकसभा चुनाव की जातिगत समीकरण को साधा जा सके।

सूत्रों के मुताबिक सांसद राजबब्बर ने काफी समय से यह मन बना लिया था कि उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पद से इस्तीफा देना है और अपनी इच्छा से उन्होंने हाईकमान को अवगत करा दिया था लेकिन चुनावी कारणों और कांग्रेस के राष्ट्रीय अधिवेशन को लेकर मामला ठंडे बस्ते में चला गया था। अब हाईकमान ने सांसद राजबब्बर के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है तो अब उन्हें बड़ी जिम्मेदारी देने के साथ-साथ चुनाव लड़ाई जाने की तैयारी कर ली है।

राज बब्बर के इस्तीफा देने के बाद से उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद की दौड़ में प्रमोद तिवारी, जितिन प्रसाद, लोकमत ई त्रिपाठी और राजेश मिश्र के नाम प्रमुखता से चल रहे हैं लेकिन उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी जितिन प्रसाद को मिलने की खबर सूत्रों से आ रही है।

कांग्रेस हाईकमान जल्दी उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं को नया अध्यक्ष दे सकता है। सूत्रों की माने तो पार्टी हाईकमान सांसद राज बब्बर को 2019 में फतेहपुर सीकरी लोकसभा से चुनाव लड़ाएगी। जिसके लिए हाईकमान ने राजसभा सांसद का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*