Home मेडिकल पोषण पंचायत में राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित ने किया बच्चों का अन्नप्राशन

पोषण पंचायत में राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित ने किया बच्चों का अन्नप्राशन

by admin
Nirmala Dixit, a member of the State Women's Commission in the Poshan Panchayat, did Annaprashan to the children
Spread the love

आगरा। राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत बुधवार को एत्मादपुर तहसील सभागार में पोषण पंचायत का आयोजन किया गया। इसमें राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित मुख्य अतिथि रहीं। उन्होंने पांच बच्चों का अन्नप्राशन और पांच महिलाओं की गोदभराई की।

जिला कार्यक्रम अधिकारी साहब सिंह यादव ने बताया कि जनपद में सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसके तहत पोषण के प्रति जनजागरुकता के लिए विभिन्न कार्यक्रम किए जा रहे हैं। इसी क्रम में बुधवार को पोषण पंचायत का आयोजन किया गया। इसमें महिलाओं को पौष्टिक आहार, कुपोषण और विभिन्न बीमारियों के प्रति जागरूक किया गया।

राज्य महिला आयोग की सदस्य और कार्यक्रम की मुख्य अतिथि निर्मला दीक्षित ने बताया कि सही पोषण मिलना विकास के लिए अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कुपोषण को दूर करने की इस लड़ाई को जनआंदोलन बनाएं। सामुदायिक स्तर पर लोगों को कुपोषण के प्रति जागरुक करें और कुपोषण मुक्त भारत बनाने में सहयोग करें।

Nirmala Dixit, a member of the State Women's Commission in the Poshan Panchayat, did Annaprashan to the children

डीपीओ ने बताया कि जनपद में विभिन्न स्थानों पर पोषण पंचायतों को आयोजन किया जा रहा है। जिसके माध्यम से महिलाओं को कुपोषण, एनीमिया, पोषक आहार और स्वच्छता आदि के प्रति जागरूक किया जा रहा है। बच्चों व महिलाओं के पोषण स्तर में सुधार के लिए सरकारी स्कूलों, आवासीय स्कूलों, आंगनवाड़ी केंद्रों में अतिरिक्त भूमि पर पोषण वाटिका स्थापित की जा रही हैं।

इस बार राष्ट्रीय पोषण माह की टैग लाइन कुपोषण छोड़ पोषण की ओर, थामें क्षेत्रीय भोजन की ओर रखा गया है। पोषण माह में इस बार आंगनवाड़ी केंद्रों पर पोषण वाटिका एवं पौधरोपण किया जा रहा है। बच्चे, किशोरी एवं गर्भवती महिलाओं हेतु सुपोषण के लिए योगा एवं आयुष का महत्व बताया जा रहा है। स्थानीय खाद्य पदार्थ पर जन जागरुकता, प्रचार-प्रसार तथा अनुपूरक पोषाहार का वितरण किया जा रहा है और सैम/ मैम बच्चों का चिन्हांकन किया जा रहा है।

Related Articles