Home आगरा मिस यूनिवर्स – ग्रेट ब्रिटेन 2022 ने जाना हाथियों का हाल, हाथियों पर हुए अत्याचार की कहानी सुन हो गईं हैरान

मिस यूनिवर्स – ग्रेट ब्रिटेन 2022 ने जाना हाथियों का हाल, हाथियों पर हुए अत्याचार की कहानी सुन हो गईं हैरान

by admin

आगरा। मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन 2022, नोकी सिम्बानी ने वन्यजीव संरक्षण को बहतर तरह से समझने के लिए मथुरा स्थित वाइल्डलाइफ एसओएस के हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र का दौरा किया और उनकी देखरेख में रह रहे हाथियों से मुलाकात की।

नोकी सिम्बानी ने अपनी साथी प्रतियोगियों के साथ एनजीओ के ‘रिफ्यूज टू राइड’ अभियान को भी समर्थन दिया, जो भारत में हाथीयों की सवारी के पीछे के काले सच को उजागर करता है।

शुक्रवार को नोकी सिम्बानी और उनकी टीम ने भारत में वन्यजीव संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में स्थित वाइल्डलाइफ एसओएस के हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र का दौरा किया।

25 वर्षीय नोकी ने बर्मिंघम विश्वविद्यालय से केमिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री प्राप्त की और अब एक चार्टर्ड कमर्शियल बैंकर है, जो पूरे देश में व्यवसायों को बढ़ावा देने के लिए उद्यम विकास पहल चला रही हैं। उन्हें 2022 में मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन का ताज पहनाया गया था l इससे पहले वह मिस ग्रैंड इंग्लैंड 2017 थीं और मिस ग्रैंड इंटरनेशनल 2017 में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व भी कर चुकी हैं।

उनके साथ फाइनलिस्ट त्रिशाला लखानी, हैरियट लेन, जैस्मीन कैडवालडर और मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन 2021, एम्मा कॉलिंग्रिज ने भी केंद्र का भ्रमण किया।

मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन की टीम ने हाथियों की देखभाल के बारे में जानकारी हासिल करते हुए गुणवत्तापूर्ण समय बिताया, जिन्हें अब दुर्व्यवहार और क्रूरता से मुक्त जीवन जीने का दूसरा अवसर प्राप्त हुआ है।

उन्होंने भारत में एशियाई हाथियों के संरक्षण में आने वाले खतरों को समझा और केंद्र में रह रहे हाथियों की सुरक्षा के प्रयासों के बारे में हाथी देखभाल कर्मचारियों और पशु चिकित्सकों की टीम के साथ एक इंटरैक्टिव सत्र में जाना। हाथियों की दिल दहला देने वाली कहानियों और उन पर पूर्व में किये गए अत्याचारों को सुनकर वह आश्चर्यचकित रह गई।

वाइल्डलाइफ एसओएस टीम ने उन्हें भारत में हाथीयों की सवारी के आकर्षक खेल के पीछे की काली वास्तविकता और वाइल्डलाइफ एसओएस की अनूठी पहल “रिफ्यूज टू राइड” अभियान के बारे में भी जानकारी दी, जिसका उद्देश्य पर्यटकों और आम जनता के बीच हाथियों पर होती क्रूरता के प्रति जागरूकता फैलाना है।

अपनी विज़िट के दौरान टीम हथनी ज़ारा और आर्या के साथ शाम की सैर पर भी गई। नोकी ने बाद में इंस्टाग्राम पर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपनी विज़िट की छवियों को साझा किया और लोगों को संस्था के संरक्षण के प्रयासों का समर्थन करने के लिए भी प्रोत्साहित किया।

नोकी सिम्बानी, मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन, 2022, ने कहा, “मैं इन बचाए गए हाथियों पर अतीत में हुए अत्याचार के बारे में जानकर हैरान हूँ। लेकिन मुझे यह देखकर बहुत खुशी हुई है कि वाइल्डलाइफ एसओएस टीम इन हाथियों को विशेष चिकित्सा देखभाल के साथ-साथ बेहतर जीवन देने में कितने प्रभावीशाली तरीके से कार्य कर रही है। मैं उम्मीद करती हूँ की लोग हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र में जाकर इन खूबसूरत हाथियों के संरक्षण का समर्थन करेंगे। ”

वाइल्डलाइफ एसओएस की सह-संस्थापक और सीईओ गीता शेषमणि ने कहा, “हम पिछले कई वर्षों से अपने हाथी संरक्षण एवं देखभाल केंद्र पर मिस यूनिवर्स ग्रेट ब्रिटेन के खिताब धारकों की मेजबानी कर रहे हैं। नोकी सिम्बानी जैसी प्रमुख युवा प्रतिभाओं को हमारे संरक्षण प्रयासों का समर्थन और प्रचार करते देखना उत्साहजनक है। इससे वन्यजीव संरक्षण के बारे में एक जागरूक संदेश फैलाने में मदद मिलेगी। हमें उम्मीद है कि वह अपना समर्थन जारी रखेंगी।”

2010 में, वाइल्डलाइफ एसओएस और उत्तर प्रदेश वन विभाग ने मथुरा में हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र की स्थापना की। अत्याधुनिक पशु चिकित्सा सुविधाओं से लैस, केंद्र वर्तमान में लगभग 30 पुनर्वासित हाथियों को देखभाल और उपचार प्रदान कर रहा है, जिन्हें सर्कस में प्रदर्शन करने, पर्यटकों को सवारी कराने, सड़कों पर भीख मांगने और शादी में इस्तेमाल करने जैसी बेहद तनावपूर्ण परिस्थितियों से बचाया गया है।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: