कलेक्ट्रेट पर धरने पर बैठा परिवार, न्याय न मिलने पर सामूहिक आत्महत्या की दी चेतावनी

आगरा। अपनी जमीन पर अवैध रूप से हुए कब्जे को हटाने की मांग कर रहा यह परिवार थाना ताजगंज के गांव लकावली तहसील सदर आगरा का है। पीड़ित विजय सिंह ने अपनी जमीन को बचाने के लिए न जाने किस किस का दरवाजा खटखटाया। पुलिस प्रशासन से लेकर तहसील सदर के अधिकारियों के न जाने कितने चक्कर काटे। हर घंटे हर दरवाजे और अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ाते विजय सिंह के परिवार को अभी तक न्याय नहीं मिला। पुलिस और प्रशासन की लचर कार्यवाही के चलते भू माफिया स्टेट लाइन डेवलपर्स ने पीड़ित परिवार के 6 विसे जमीन पर कब्जा कर लिया। सब तरफ से जंग हार चुका विजय सिंह अब अपने छोटे-छोटे मासूम बच्चों और परिवार के अन्य लोगों के साथ जिला कलेक्ट्रेट आगरा में प्रशासन के दरवाजे पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गया है। धरने पर बैठे मासूम बच्चे जिलाधिकारी आगरा के साथ आगरा के पुलिस और प्रशासन के अफसरों से मांग कर रहे हैं उनकी जमीन को भू माफिया के कब्जे से मुक्त कराया जाए और उनकी जमीन को उन्हें वापस दिलाया जाए ।

मामला भले ही पुराना हो मगर पीड़ित विजय कहता है कि जब से उसकी जमीन पर भूमाफिया स्टेट लाइन डेवलपर्स की निगाह थी तब से लगातार पुलिस प्रशासन के संपर्क में था। अपनी जमीन के असली कागज लेकर पीड़ित परिवार थाने चौकियों के चक्कर काटता रहा। आरोप है कि उसकी जमीन पर रातोंरात कब्जा कर लिया। जिला प्रशासन आगरा के दरवाजे पर परिवार के साथ धरना देता पीड़ित विजय सिंह का कहना है कि अगर उसे न्याय नहीं मिला। उसकी जमीन वापस नहीं हुई तो जिला कलेक्ट्रेट में ही वह पूरे परिवार के साथ सामूहिक आत्महत्या कर लेगा।

पूरे परिवार के साथ कलेक्ट्रेट में जिला प्रशासन के दरवाजे पर धरना दे रहा पीड़ित और उसके साथ उसके छोटे छोटे मासूम बच्चे जिला प्रशासन के आगे गिड़गिड़ाते हुए जमीन वापस करने की गुहार लगा रहे हैं। अब देखना होगा कि कलेक्ट्रेट पर धरने पर बैठे इन मासूम बच्चों को देखकर क्या जिला प्रशासन का दिल पसीजता है या नही।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*