गौकशी मामला – पुलिस पर फायरिंग कर भागने वाले 7 बदमाशों की हुई गिरफ्तारी

फतेहाबाद। बिलौनी के जंगल में पुलिस और ग्रामीणों पर फायरिंग कर शनिवार रात भागे गौकशों को रविवार रात पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर जंगल में कोम्बिंग कर दबोच लिया। पकड़े गये 7 गोकश पश्चिमी उप्र के विभिन्न जिलों के रहने वाले है। इनके पास से दो तमंचे, 5 छैनियां बरामद हुई। पुलिस ने सभी 7 आरोपियों को जेल भेज दिया।

कोतवाली फतेहाबाद में आयोजित पत्रकार वार्ता में क्षेत्राधिकारी डा. तेजवीर सिंह ने बताया कि शनिवार रात बिलौनी के जंगल में ट्रकों में गौवंश भर कर ले जाने की सूचना पर पुलिस ने दो गाडियों में भरे 45 गौवंश को मुक्त कराया था लेकिन बदमाश ग्रामीण और पुलिस पर फायरिंग कर जंगल में भाग गये थे। इस मामले में प्रधान प्रतिनिधि ने अज्ञात गौकशों के विरूद्घ मामला दर्ज करवाया था। पुलिस की दबिश के चलते सभी गौकश मुख्य मार्ग से फरार न होकर जंगल की ओर भाग गये।

पुलिस ने प्रभारी निरीक्षक बीआर दीक्षित के नेतृत्व में पुलिस टीम बनाकर बीहड में कोबिंग की। मुखबिर की सूचना पर जंगल में छुपे 7 आरोपी राजविंदर सिंह पुत्र चंचल सिंह निवासी गोबरे कपूरथला पंजाब, मो. रहीश पुत्र कल्लू, मो. जैकी पुत्र याशीन, सकलेन पुत्र मकसूद निवासीगण मंसूरपुरा थाना आसमौली जिला संभल, शादाब पुत्र शरीफ निवासी खालापार थाना कोतवाली नगर मुजफफरनगर, सुलेमान पुत्र दिशौदी निवासी फलावदा जिला मेरठ, अकरम पुत्र असलम निवासी सहसपुर अलीनगर थाना डिडौली अमरोहा को बिलौनी की पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से अवैध 2 तमंचे मय कारतूस और 5 छुरी बरामद हुई है।

आरोपियों में पकड़ा गया मौ. रहीश उफ कलूआ पूरे गैंग का लीडर है। इस पर मुरादाबाद तथा अमरोहा जनपद में गौकशी का अभियोग पंजीकृत है।

क्षेत्राधिकारी डा. तेजवीर सिंह ने बताया कि इन आरोपियों द्वारा आगरा जनपद में की गई अन्य वारदातों के बारे में भी पूछताछ की जायेगी। पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक बी आर दीक्षित, उपनिरीक्षक पंकज कुमार, प्रेमपाल धामा, मानवेंद्र ‌सिंह परमार आदि रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*