नेत्रहीन लोगों को ज्योति जीवन दे रहा है ये वात्सल्य ग्राम

मथुरा। कहावत है नेत्रदान से बड़ा कोई दान नहीं क्योंकि यह नेत्र ही है जो अपने-पराए और दुनियादारी को दिखाते हैं। इसी क्रम में वात्सल्य ग्राम में साध्वी ऋतंभरा द्वारा हर डेढ़ महीने पर नेत्र शिविर लगाया जाता है, जिसमें मुंबई से आने वाले डॉक्टरों द्वारा असहायों का ऑपरेशन करते हैं। वह भी निशुल्क जिससे लोगों को नई रोशनी मिल सके।

जी हां, हम बात कर रहे हैं मथुरा के साध्वी ऋतंभरा के वात्सल्य ग्राम जहां आंखों का नेत्र शिविर लगा जिसमें लगभग 600 मरीजों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया। मगर समय की पाबंदी के कारण 300 ऑपरेशन ही हो सके।

वात्सल्य ग्राम में लोगों के लिए नेत्र शिविर निशुल्क लगाया जाता है जिसमें मुंबई के विशेषज्ञ डॉक्टर श्याम अग्रवाल द्वारा मरीजों के ऑपरेशन किए गए। कई डॉक्टरों की टीम इस पुण्य कार्य का शुभारंभ किया जिसमें निशुल्क आंखों के ऑपरेशन किए गए। जब रोगियों से बात की गई तो उनका भी कहना था कि हमारा ऑपरेशन निशुल्क किया गया है और अच्छा किया गया है।

डॉ श्याम अग्रवाल का भी कहना है कि यहां असाहय लोग जो इलाज करने में सक्षम नहीं है। उस कारण वह अपनी आंखें खो देते हैं उन्हीं के लिए साध्वी ऋतंभरा जी ने यह शिविर आयोजित किया है जिसमें हम अपने आपको भी धन्यवाद देते हैं।

वही साध्वी ऋतंभरा का कहना है कि यह पुण्य कार्य है लोग जो अपना इलाज नहीं करा सकते हम ऐसे लोगों को निशुल्क ऑपरेशन करा रहे हैं जिससे वह दुनिया देख सकें और यह धर्म का काम है। सभी लोगों को और आगे आना चाहिए और ऐसे लोगों की मदद करनी चाहिए जिससे कोई भी गरीब आंखों की वजह से दुनिया ना देख सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*