रेलवे बोर्ड के इस फैसले पर मजदूरों को हुई परेशानी, डीआरएम कार्यालय पर किया प्रदर्शन

आगरा। भरतपुर और आगरा के बीच चलने वाली डीएमयू ट्रैन को कोहरे के कारण रेलवे विभाग ने उसका संचालन बंद कर दिया है। इस ट्रेन के संचालन बंद हो जाने का सबसे ज्यादा असर भरतपुर, अछनेरा और आसपास के गांव से आगरा मजदूरी करने आने वाले मजदूरों को पड़ा है जिसको लेकर मजदूरों और किसानों में रोष व्याप्त है। डीएमयू के बंद होने से होनेे वाली दिक्कतों को डीआरएम के सामने रखने के लिए भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में मजदूरों और किसानों ने डीआरएम कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया।

मजदूरों और किसानों के उग्र प्रदर्शन से रेलवे में हड़कंप मच गया और रेलवे अधिकारी भी मौके पर पहुँच गए। डीआरएम रंजन यादव ने प्रदर्शनकरियों से वार्ता की और उनकी समस्याएं जानी। भारतीय किसान संघ के मोहन सिंह चाहर ने डीआरएम रंजन यादव को ज्ञापन सौंपा और समस्या बताते हुए डीएमयू ट्रैन चलाने की मांग की।

किसान नेता मोहन सिंह चाहर का कहना था कि आगरा रेल मंडल की ओर से भरतपुर और आगरा के बीच डीएमयू ट्रैन चलती थी जिससे ग्रामीण क्षेत्र से मजदूर आगरा मजदूरी के लिए आते थे। लेकिन विभाग ने इस ट्रेन को बंद कर दिया है जिसके कारण मजदूरों पर आगरा आने का संकट आ गया है। डीआरएम से एक समय इस ट्रेन को चलाने की मांग की गई है।

डीआरएम रंजन यादव का कहना था कि मजदूरों की ओर से जो ज्ञापन दिया गया है उसे ले लिया गया है। इस ज्ञापन को रेलवे बोर्ड को भेजा जाएगा। क्योंकि ट्रैन निरस्त करने के आदेश बोर्ड ही करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*