बाबा साहब पर जारी सियासत, जानिये एससी आयोग के अध्यक्ष ने क्या कहा

आगरा। एससी एसटी एक्ट को लेकर सर्वोच्च न्यायालय की ओर से आये फैसले के बाद से पूरे देश में दलित राजनीति गरमाई हुई है। हर राजनैतिक पार्टी अपने आप को दलितों का हितेषी बताने में लगी हुई है। दलित आंदोलन के बाद सबसे अधिक अगर नुकसान का डर किसी राजनैतिक पार्टी को है तो वह भाजपा है। इसलिये भाजपा दलितों को साधने में लगी हुई है।

राजनैतिक पार्टियों की इस पॉलिटिक्स से संविधान निर्माता भी अछूते नहीं रहे है। बसपा जहाँ बाबा साहब को लेकर अपनी पार्टी के हर वोटर को एक डोर में बंधे हुए है तो वहीं एससी आयोग के चैयरमैन और भाजपा सांसद रामशंकर कठेरिया भी इसको लेकर मायावती पर हमलावर हो रहे हैं।

एससी आयोग के चैयरमैन का कहना था कि जिस व्यक्ति ने पूरे देश के लिए संविधान लिखा उसे कुछ समाज के लिए बसपा सुप्रीमो ने बांध दिया। बसपा सुप्रीमो ने बाबा साहब का राजनीतिकरण करके उन्हें अपने निज स्वार्थ के लिए उपयोग किया है जो गलत है।

भाजपा सांसद रामशंकर कठेरिया ने डॉ भीमराव अंबेडकर की मूर्ति के भगवाकारण पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उनका कहना था कि बाबा साहब किसी एक रंग के नहीं थे वो बसपा के भी कार्यकर्त्ता नहीं थे उनका तो राजनीतिकरण किया गया है। बाबा साहब किसी एक के नहीं बल्कि पूरे देश के नेता थे।

About admin 5852 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*