Home agra सुपोषण दिवस: लोकगीतों के संग हुई गोदभराई तो लता के खुशी से निकले आंसू

सुपोषण दिवस: लोकगीतों के संग हुई गोदभराई तो लता के खुशी से निकले आंसू

by admin
Suposhan Diwas: Lata's tears came out of happiness when there was a baby shower with folk songs

आगरा। बाग मुजफ्फर खां निवासी लता और अश्वनी की मंगलवार को सुपोषण दिवस के अवसर पर उत्सव के रूप में गोदभराई की गई। इस अवसर पर लोक गीत गाए गए, दोनों दूसरी बार मां बन रही हैं लेकिन पहली बार उनकी गोदभराई हुई है।

बाग मुजफ्फर खां निवासी लता और अश्वनी की मंगलवार को सुपोषण दिवस के अवसर पर उत्सव के रूप में गोदभराई की गई। इस अवसर पर लोक गीत गाए गए, दोनों दूसरी बार मां बन रही हैं लेकिन पहली बार उनकी गोदभराई हुई है। लता ने बताया कि उनके पति मजदूर हैं और आर्थिक तंगी के चलते उनके यहां पर ऐसा उत्सव नहीं हो सकता था, लेकिन विभाग की ओर से हुए कार्यक्रम ‘सुपोषण दिवस’ के अंतर्गत उनकी गोदभराई धूमधाम से हुई।

जिला कार्यक्रम अधिकारी अदिश मिश्रा ने बताया कि बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की ओर से आयोजित सुपोषण दिवस जैसे विभिन्न कार्यक्रमों में गर्भवती महिलाओं की गोदभराई की जाती है और बच्चों का अन्नप्राशन महोत्सव की तरह मनाया जाता है। इससे लाभार्थियों को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए उन्हें सही पोषण लेने के लिए जागरुक भी किया जा रहा है। इससे वह आसानी से पोषण संबधी जानकारी को आत्मसात कर लेते हैं। उन्होंने बताया कि मंगलवार को जनपद में 2250 केंद्रों पर सुपोषण दिवस मनाया गया।

सीडीपीओ राय साहब यादव ने बताया कि सुपोषण दिवस के दौरान गर्भवती महिलाओं की गोदभराई की गई। इस अवसर पर लोक गीतों के जरिए भी लोगों को सही पोषण लेने के बारे में जागरूक किया गया। साथ ही छह माह के हो चुके बच्चों का अन्नप्राशन भी किया गया। इस अवसर पर बच्चों को विभिन्न सामग्री बांटी गई। साथ ही महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों से अवगत कराया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से गर्भवती और धात्री महिलाओं को पौष्टिक आहार और स्तनपान के बारे में भी बताया।

बाग मुजफ्फर खां क्षेत्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सरिता ने बताया कि उन्होंने सुपोषण दिवस पर गर्भावस्था में पौष्टिक खानपान के बारे में जानकारी दी। उन्होंने पुष्टाहार से लजीज व्यंजन बनाकर खाने के बारे में भी बताया। इसमें छह माह पूर्ण कर चुके लव, यश सहित छह बच्चों का तिलक लगाकर और माला पहनाकर खीर खिलाकर अन्नप्राशन किया गया।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता राखी ने बच्चों को ऊपरी आहार देने की महत्ता बताई। नाला बुढ़ान सैय्यद प्रथम व द्वितीय आंगनवाड़ी कार्यक्रता सुनीता लवानियां और रितु, शीतला गली में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता क्रांति शर्मा, खटीक पाड़ा में आंगनवाड़ी सुनीता ने सुपोषण दिवस का कार्यक्रम संपन्न कराया।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: