जीआरपी के हत्थे चढ़े शातिर अपराधी, ट्रेनों में करते थे लूटपाट

आगरा। ट्रेनों में अपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर गैंग के खिलाफ जीआरपी और आरपीएफ की संयुक्त रूप से चल रही कार्यवाही से अपराधियों में हड़कंप मचा हुआ है तो इन कार्यवाहियों में मिल रही सफलता से जीआरपी और आरपीएफ के हौंसले भी बुलंद है। बुधवार सुबह तड़के जीआरपी और आरपीएफ की संयुक्त चेकिंग टीम ने ट्रेनों में आपराधिक वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे शातिर गैंग के चार लोग हत्ते चढ़ गए है। संयुक्त टीम ने इन शातिर अपराधियो से मोबाइल, चाकू नगदी सहित अटेचियो को तोड़ने वाले टूल्स भी बरामद किए है। जीआरपी आगरा कैंट ने इन शतिरो के खिलाफ कानूनी कार्यवाही को अंजाम देकर जेल भेज दिया है।

जीआरपी आगरा कैंट इंस्पेक्टर ललित त्यागी ने बताया कि इस कार्यवाही के दौरान वीरेन्द्र उर्फ ठाकुर पुत्र किशन चंद्र, प्रताप सिंह पुत्र कुंवरपाल,देवेंद्र सिंह पुत्र रामसेवक, और सतीश पुत्र भजन लाल को गिरफ्तार किया गया है। जीआरपी इंस्पेक्टर ललित त्यागी ने बताया कि सुबह करीब 5 बजे मुखबिर से सूचना मिली थी कि झांसी की ओर बने केविन के पास कुछ लोग ट्रैन में आपराधिक वारदात के लिए योजना बना रहे है इस पर कार्यवाही कर चार लोगों को हिरासत में लिया है। इन शातिर अपराधियो से 4 मोबाइल 4 चाकू 4100 रुपये नगदी और अटैची तोड़ने के टूल्स बरामद किये है।

जीआरपी कैंट इंस्पेक्टर ललित त्यागी ने बताया कि इस गैंग का सरगना वीरेंद्र है जो छोटे छोटे अपराधियों को साथ लेकर गैंग बनाकर ट्रैन में आपराधिक वारदातों को अंजाम देता है। इन सभी के खिलाफ आगरा, अलीगण और टूंडला में दर्जनों मुकदमे दर्ज है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*