समाज का वहशी दरिंदा, शिक्षक बना भक्षक, ये देखें वीडियो

आगरा। उत्तर प्रदेश में सुबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ भले ही प्रदेश से बलात्कार और महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध के प्रति गंभीर हों मगर समाज के वहशी दरिंदे और उनके चेहरे लगातार सामने आ रहे हैं। ताजनगरी आगरा में ही कुछ ऐसा घटनाक्रम सामने आया है जहां गुरु और शिष्य के पवित्र रिश्ते से लोगों का विश्वास उठ गया है। ताजनगरी आगरा में नाबालिग बच्ची की एक इज्जत तार-तार हुई है

एडमिशन दिलाने के बहाने किया दुराचार

दरअसल यह मामला ताजगंज थाना क्षेत्र का है। नाबालिग बच्ची काल्पनिक नाम की सुधा ITI में एडमिशन लेना चाहती थी जिसको लेकर गुरु का दर्जा कहे जाने वाले शिक्षक संत कुमार बच्ची के परिवार के संपर्क में आए। घटना 3 फरवरी दिन शनिवार दोपहर 11:00 बजे की है। पीड़िता के मुताबिक़ आरोपी शिक्षक संतकुमार ने ITI में एडमिशन दिलाने के नाम पर बच्ची को होटल में ले जाकर दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया।

नाबालिग को दी धमकी

नाबालिग बच्ची को बहला-फुसलाकर कागजात सहित एक होटल में बुलाया गया। यह होटल थाना ताजगंज क्षेत्र में स्थित है। ताजगंज थाना क्षेत्र के बसई चौक इलाके में स्थित होटल एंजेल में गुरु का दर्जा कहे जाने वाले शिक्षक संत कुमार ने नाबालिग बच्ची सुधा के साथ दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया। ना केवल बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ बल्कि उसे डराया धमकाया भी गया। और तो और यह पूरा मामला होटल के रजिस्टर में दर्ज है। यानि शिक्षक ने अपने नाम पर ₹500 में कमरा खरीदा और उस कमरे में दिनदहाड़े एक बच्ची के साथ दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया गया।

नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ। बच्ची कमरे के अंदर चीखती चिल्लाती रही। अपनी इज्जत की दुहाई मांगती रही मगर गुरु के भेष में समाज का भेड़िया उसकी इज्जत को तार-तार करता रहा।

आखिरकार  नाबालिग बच्ची अपने घर पहुंची और पूरी घटना को परिवारीजनों को बताया इसके बाद परिवार वालों ने थाना ताजगंज पुलिस को लिखित शिकायत की। पीड़िता और उसके परिवार की लिखित शिकायत पर थाना ताजगंज पुलिस ने गुरु का दर्जा कहे जाने वाले समाज के भेड़िये संत कुमार को हिरासत में ले लिया है।

संत कुमार मूल रूप से जनपद इटावा का निवासी है। अपनी हवस का शिकार बनाने वाले समाज के वीडियो और गुरु का दर्जा कहे जाने वाले संत कुमार के खिलाफ थाना ताजगंज पुलिस ने दुष्कर्म सहित कई गंभीर धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर लिया है और जेल भेजने की तैयारी कर ली है।

पीड़ित बच्ची की माँ ने दिया साहस का परिचय

नाबालिग बच्ची और उसके परिवार के लोग पूरी घटना क्रम बता रहे हैं। बच्ची की माँ ने बताया कि आरोपी के परिवारीजन उस पर समाज की बदनामी का दर देते हुए कार्यवाई न करवाने का दवाब बना रहे हैं लेकिन इस साहसी माँ ने कहा कि आज अगर मैं चुप बैठी तो जो दुराचार मेरी बेटी के साथ हुआ है कल किसी और के साथ भी हो सकता है। इसलिए मैं आवाज उठाऊंगी।

सवाल इस बात का है कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार जहां एक तरफ दुष्कर्मियों और महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों पर गंभीर है तो वहीं ऐसे शिक्षक भी हैं जिनका भरोसा समाज से उठ गया है।

फिलहाल वहशी दरिंदे को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। गुरु और शिष्य का रिश्ता हुआ तार-तार इस बात की भी पुष्टि करता है कि शायद अब अपने गुरु पर पर भी शिष्य आँख बंद कर भरोसा नहीं कर सकता।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*