गंगाजल प्रोजेक्ट का कार्य अंतिम चरण में, 2018 में आगरा को मिलेगा गंगाजल !

आगरा। केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार जल्द ही अपना वादा पूरा करने जा रही है। हम बात कर रहे हैं आगरा की जनता को मिलने वाले गंगाजल की। साल 2007 में गंगाजल प्रोजेक्ट की नींव रखी गई थी जिसका कार्य अब लगभग पूर्ण होने जा रहा है। 2018 तक केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने आगरा की जनता को गंगा जल देने का वायदा किया था। अगर गंगाजल प्रोजेक्ट के अधिकारियों की बात मानी जाए तो इस समय कार्य अंतिम चरणों में चल रहा है। गंगाजल प्रोजेक्ट के कार्य की प्रगति जानने के लिए आगरा दक्षिणी विधानसभा सीट से भाजपा विधायक योगेंद्र उपाध्याय बुलंदशहर पहुंच गए।

आपको बताते चलें कि अपर गंगा कैनाल की ओर से गंगाजल सबसे पहले बुलंदशहर आएगा और उसके बाद मथुरा के बलदेव होते हुए आगरा शहर पहुंचेगा जिसके लिए कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। गंगाजल प्रोजेक्ट के कार्य प्रगति जाने के बाद योगेंद्र उपाध्याय ने बुलंदशहर गंगाजल प्रोजेक्ट में पूजा अर्चना की और वहां पर पानी की सप्लाई के साथ पानी के प्रेशर को भी जाना।

गंगाजल प्रोजेक्ट के अधिकारियों का कहना है कि साल 2018 तक गंगाजल को आगरा की सीमा में उतार दिया जाएगा जिससे आगरा के लोग गंदे पानी की पेयजल समस्या से निजात पा सकेंगे। साल 2018 तक आगरा की जनता को गंगाजल पिलाने का वादा करने वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने गंगाजल प्रोजेक्ट को युद्ध स्तर से जारी करने के निर्देश दिए हैं। तकरीबन 125 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछा दी गई है जबकि केवल 5 किलोमीटर की पाइप लाइन ही शेष बची है। कुछ अड़चनें है जिसके चलते 5 किलोमीटर की पाइप लाइन के लिए विभाग इसे जल्द पूरा करने के लिए इलाकाई लोगों और ग्राम प्रधानों से संपर्क में है।

विधायक योगेंद्र उपाध्याय का दावा है कि केंद्र सरकार ने जो वादा किया था कि आगरा की जनता को शुद्ध पेयजल और गंगाजल दिया जाएगा। आगरा की जनता के वादे पर खरा उतरने के लिए प्रदेश सरकार ने इस कार्य को और ज्यादा तेज करने के दिशा निर्देश दिए हैं और साल 2018 तक दावा किया जा रहा है कि आगरा की जनता को गंगाजल पीने को मिल जाएगा। भाजपा विधायक ने बुलंदशहर के अलावा मथुरा के बलदेव में भी जाकर निरीक्षण किया। पानी के प्रेशर के साथ विधायक योगेंद्र उपाध्याय ने विभागीय अधिकारियों से बातचीत भी की।

बातचीत के बाद विधायक योगेंद्र उपाध्याय काफी खुश नजर आए क्योंकि कार्य लगभग अंतिम चरणों में है। बीजेपी विधायक का दावा है कि 2018 तक आगरा की पेयजल समस्या न केवल दूर होगी बल्कि आगरा की जनता शुद्ध गंगाजल पी सकेगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*