भ्रष्ट लेखपाल के विरोध में उतरे ग्रामीण, भूमाफियों को फायदा पहुँचाने का आरोप

मथुरा। सरकारी जमीन से अवैध कब्जे को हटाने के लिए प्रदेश के मुखिया योगी सरकार प्रयासरत है लेकिन इन प्रयासों को लेखपाल ही पलीता लगा रहे हैं। ऐसा ही कुछ मथुरा जिला मुख्यालय पर देखने को मिला हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन कर रहे महिलाएं और पुरुष गांव शाहपुर चैनपुर के है जो क्षेत्र के लेखपाल के सताए हुए हैं।

क्षेत्र के दबंग लेखपाल ने गांव शाहपुर चैनपुर ग्राम पंचायत की डेढ़ सौ एकड़ जमीन फर्जी कागज बनाकर भूमाफियाओं को सौंप दी है जिससे ग्रामीण काफी परेशान हैं। अपनी समस्या को लेकर और लेखपाल के खिलाफ उचित कार्रवाई को की मांग को लेकर महिला और पुरुषों ने प्रदर्शन कर जिला अधिकारी के नाम प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने अधिकारीयों को फर्जी तरीके से भूमाफियाओं को बेची गई जमीन के ग्राम पंचायत की जमीन होने की सही साक्ष्य प्रस्तुत किए।

ग्रामीणों का कहना है कि शाहपुर चैनपुर ग्राम पंचायत की जमीन की बिक्री नहीं की जा सकती। उसके बावजूद भी लेखपाल चंद्रपाल ने उस जमीन को अपने रिश्तेदारों को नाम करवा दिया है। लोगों का कहना है कि लेखपाल दबंग है इसलिए किसी भी अधिकारी से ना डरे हुए इस कारनामे को अंजाम दे दिया है। लेखपाल के ऐसे किस्से पहले भी सुर्ख़ियो में रहे हैं।

जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन सौपते हुए ग्रामीणों का कहना था कि इस फर्जीवाड़े में प्रशासन के भ्रष्ट अधिकारी भी शामिल है क्योंकि 150 एकड़ ग्राम पंचायत की जमीन का फर्जीवाड़ा बिना अधिकारी के शह के नहीं हो सकता है।

ADM रविंद्र कुमार ने बताया कि लेखपाल का भूमि को लेकर यह मामला आया है जिसकी जांच कराई जाएगी और जो भी इसमें दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। अगर लेखपाल दोषी है तो उस पर भी कार्यवाही की जाएगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*