एस एन में भर्ती के बाद भी जारी रहेंगी भ्रष्टाचार की लड़ाई: सावित्री देवी

भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रही सावित्री देवी की तबीयत अब बिगड़ने लगी है । आलम यह है कि पिछले 5 दिनों से सावित्री देवी ने जल तक ग्रहण नहीं किया है ।
जिसके कारण सावित्री देवी का स्वास्थ्य एकदम खराब हो गया। सावित्री देवी की बिगड़ती स्थिति को देख उनके साथ धरने पर बैठे लोग परिवारीजन और ग्रामीण तुरंत उन्हें अस्पताल ले आए जहां पर उन्हें भर्ती कराया गया है।

मामला करीब 15 दिन पहले का है । समाजसेवी सावित्री देवी क्षेत्र में हो रहे शौचालय के गड्ढों की शिकायत और शौचालय बनाने की योजना में हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायत को लेकर अकोला एडीओ पंचायत के कार्यालय पर पहुंची थी । जहां पर एडीओ पंचायत ने उनके साथ अभद्रता की और उन्हीं के खिलाफ झूठा मुकदमा लिखा दिया।

इस मुकदमे के लिखे जाने से ग्रामीण और किसान काफी नाराज हैं । एडीओ पंचायत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने और शौचालय के भ्रष्टाचार की जांच कराने की मांग को लेकर सावित्री देवी पिछले 5 दिनों से अनशन पर बैठी हुई थी। लेकिन अनशन पर बैठी हुई सावित्री देवी की प्रशासन ने कोई सुध नहीं ली।

अन्न जल ग्रहण ना करने के कारण उनकी अचानक सावित्री देवी की तबीयत बिगड़ने लगी। एक तरफ जब मंगलवार को उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा शहर की नई सरकार को शपथ दिला रहे थे तो वहीं ग्रामीण भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रही सावित्री देवी को एस एन हॉस्पिटल में भर्ती करा रहे थे ।

भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज को बुलंद करने वाली भाजपा सरकार के नुमाइंदों ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ नहीं सावित्री देवी की अभी तक कोई सुध नहीं ली है और ना ही यह मामला उपमुख्यमंत्री के सामने उठा। महिलाओं की सुरक्षा की बात करने वाली भाजपा सरकार तमाम वादे करती है लेकिन अकोला में सावित्री देवी के साथ जो घटना हुई और उसके बाद एडीओ पंचायत पर कोई कार्रवाई ना होने से भाजपा सरकार की अब यह सारी बातें बेईमानी लगती हैं ।

फिलहाल सावित्री देवी एस एन में भर्ती हैं । लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को नहीं छोड़ा है। उनका कहना है कि जब तक सांस रहेगी यह लड़ाई लड़ी जाएगी और एडीओ पंचायत को उसकी किये की सजा मिलनी चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*