Home खेलकूद वेलिएन्ट गुडविल एम्बेसडर अमन राठौड़ क्रिकेट छोड़ चले बॉडी बिल्डिंग की राह पर

वेलिएन्ट गुडविल एम्बेसडर अमन राठौड़ क्रिकेट छोड़ चले बॉडी बिल्डिंग की राह पर

by admin

अमन राठौड़, वेलिएन्ट प्रीमियर लीग के गुडविल एंबेसडर ने क्रिकेट छोड़ने और बॉडीबिल्डिंग को अपने पेशे के रूप में लेने का फैसला करते हुए सभी को चौंका दिया। अमन की क्रिकेट का सफर कुछ खास नहीं रहा, वह हमेशा एक रोलर कोस्टर की सवारी की तरह रहा है।

अमन ने कभी क्रिकेटर बनने का सोचा भी नहीं था। उन्होंने 2011 – 2014 से लगातार 3 वर्षों तक वैलेंटन वाल्कैनो टीम (पूर्व उप कप्तान) के तहत वेलिएन्ट प्रीमियर लीग खेला। 2019 में अमन ने पूरी तरह से क्रिकेट छोड़ने का फैसला किया और एक पेशेवर बॉडी बिल्डर बनने के लिए अपने सफर की शुरुआत की।

अमन राठौड़ का कहना है कि क्रिकेट और बॉडीबिल्डिंग की एक दूसरे से तुलना नहीं की जा सकती। एक बॉडी बिल्डर के रूप में मेरा आहार पूरी तरह से बदल गया है। मैं पूरी तरह से प्रोटीन पर निर्भर हूं जिसकी कीमत प्रति वर्ष लगभग 2-3 लाख है। शरीर सौष्ठव के साथ, मैं पर्याप्त पैसा नहीं कमा पा रहा था। मेरी डाइट और अन्य जरूरतों को मैनेज करने के लिए, मैं एक ऑटोमोबाइल कंपनी में सीनियर मैनेजर के रूप में काम कर रहा हूं। बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता जीतना आपको रातों-रात अमीर नहीं बना देता।

अमन याद करते हैं कि ‘मेरे पिता स्थानीय प्रतियोगिताओं में बॉडी बिल्डिंग करते थे, मैं अभ्यास के दौरान उनके साथ जाता था। मुझे लगा कि मैं एक स्पोर्ट्स पर्सन बनना चाहता हूं, चाहे कुछ भी हो। एक बच्चे के रूप में मुझे यकीन नहीं था कि मैं कौन सा खेल खेलना चाहता हूँ।’

अमन को बॉडीबिल्डिंग में उनकी उपलब्धियों के लिए नेशनल आइकॉन अवार्ड से सम्मानित किया गया है और उन्हें मिस्टर वड़ोदरा के नाम से जाना जाता है। वर्ष 2021 के लिए वडोदरा में अमन को किसी स्पोर्ट्स क्लब, स्कूल या कॉलेजों में होने वाले कार्यक्रमों के लिए अतिथि के प्रमुख होने के कई निमंत्रण मिलते हैं, लेकिन उन्हें कभी भी कोई पुरस्कार नहीं जीतने का पछतावा है।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: