मुकदमा वापिस न लेने पर बीवी को दिया तीन तलाक़

आगरा। केंद्र सरकार ने भले ही तीन तलाक पर कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को इस सामाजिक बुराई से आजादी दिला दी हो लेकिन इसके बावजूद भी मुस्लिम महिलाओं शहर में तीन तलाक के मामले रुकने का नाम नही ले रहे है। मुस्लिम युवक तीन तलाक कहकर मुस्लिम युवतियों की जिंदगी बर्बाद कर रहे हैं।

कुछ दिन पहले आपसी विवाद में एक मुस्लिम युवक ने दीवानी के गेट पर अपनी पत्नी को तीन तलाक बोलकर छोड़ दिया तो दूसरा मामला जगदीशपुरा थाना क्षेत्र से सामने आया है जिसमे एक युवक ने सभी के सामने अपनी पत्नी को तीन बार तलाक तलाक कहा और तलाक दे दिया। इस मामले की शिकायत पीड़ित ने क्षेत्रीय थाने में की है।

मामला जगदीशपुरा थाना क्षेत्र के विशाल कुंज कलवारी का है। इस क्षेत्र में रहने वाली हरिया खां की पुत्री गुडडी का लगभग एक वर्ष पहले अपने पति बसीर ससुराल पक्ष के लोगों से विवाद हो गया था। बशीर ने गुडडी को गाली गलौज़ और मारपीट कर घर से निकाल दिया था। पीड़ित गुडडी ने बशीर व ससुराल पक्ष के खिलाफ कचहरी में दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया है।

शनिवार रात को बसीर अपने साथियो के साथ पीड़िता के घर पहुँचा और मारपीट करने लगा। चीख पुकार सुनकर पडोसी आ गये। पड़ोसी साबिर बीच-बचाव करने लगा तो बसीर ने चाकू मारकर उसे घायल कर दिया। इस दौरान बसीर ने सभी लोगों के सामने तीन बार एक साथ तलाक तलाक तलाक कह दिया।

पीड़िता का कहना है कि बशीर ने सभी के सामने तीन तलाक कहकर तलाक ले लिया है। पीड़िता का कहना है कि बशीर पहले भी तीन तलाक का दवाब बनाकर मुकदमा वापस लेने का दवाब बना रहा था और ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी देता था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*