नेपाल से मथुरा आ रहे रेलयात्रियों के साथ हुई लूट, नेपाल करेंसी के साथ मोबाइल-गहने लूटे

मथुरा। रेलवे पुलिस और जीआरपी रेलयात्रियों की सुरक्षा को लाख दावे करे लेकिन यात्रियों के साथ ट्रेनों में हो रही लूटपाट की घटनाओं ने इन दोनों सुरक्षा एजेंसियों की पोल खोल दी है। हाल ही में लुटेरों का पीछा करते हुए त्रिवेन्द्रम एक्सप्रेस में मां बेटी की मौत को लोग अभी भुला भी नही पाए थे ट्रेनों में लूट करने वाले लुटेरों ने नेपाल से मथुरा घूमने आ रहे लोगों के साथ कविगुरु एक्सप्रेस में लूट की घटना ने सभी के होश उड़ा दिये हैं। बदमाशों ने बेखौफ होकर लूट की वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गए।

लूट के शिकार बने रेलयात्रियों ने मथुरा पहुँचकर जीआरपी थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई है। जीआरपी थाने पहुँचे सभी लोग नेपाल के रहने वाले है। पीड़ित गणेश शर्मा और जगन्नाथ के साथ परिवार की महिलाएं सहित दस लोग थे जो नेपाल से मथुरा के लिए घूमने निकले।

पीड़ितों ने बताया कि वो सिलीगुड़ी से कविगुरु एक्सप्रेस ट्रेन के बोगी नंबर एस 5 में बैठे थे और जैसे ही ट्रेन रात को चार बजे लगभग कानपुर स्टेशन के नजदीक पहुंची वैसे ही कुछ बदमाश ट्रेन में चढ़े और गणेश की बहन सावित्रा पत्नी भरत उप्रेती के सर के नीचे रखे बैग को छीनने की कोशिश करने लगे जिसकी जानकारी होते ही सावित्रा ने काफी खींचातानी की और शोर मचाया मगर बाकी लोगों के सोने के कारण वह लुटेरों से अपने सामान को बचाने में नाकाम रही। पीड़ित के बैग में 25 हजार रुपए और पांच हजार रुपये नेपाल की करेंसी के साथ एक मोबाइल के साथ कुछ गहने भी थे जिन्हें बदमाश लूटकर फरार हो गए। लूट के शिकार लोगों ने मथुरा के जीआरपी थाने पर आकर अपने साथ हुई लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

जीआरपी मथुरा ने पीड़ित परिवार की तहरीर लेकर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और उनके खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी है।

जीआरपी का कहना है कि जिन लोगो के साथ लूट हुई है वो नेपाल से है और मथुरा घूमने याए रहे थे। अज्ञात लुटेरों के खिलाफ दर्ज कराई है। जीआरपी पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कराकर जांच के कार्यवाही की जाने की बात कही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*