ईलाज के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है एसएन मेडिकल कॉलेज, बदहाल हुई व्यवस्था

आगरा। आगरा जिले के तमाम लोग सस्ता और सरकारी ईलाज कराने के लिए एसएन मेडिकल कॉलेज आते हैं लेकिन आज एसएन मेडिकल खुद बीमार पढ़ा हुआ है। इस मेडिकल कॉलेज को आज खुद इलाज की जरूरत है। एस एन मेडिकल कॉलेज की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से चरमराई हुई है। ऐसा लगता है कि एसएन मेडिकल कॉलेज अपाहिज हो गया हो और बैसाखी का सहारा लेकर इलाज करने में जुटा हुआ हो।

एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में यह स्थिति और समस्याएं प्रतिदिन देखने को मिल जाती हैं। ऐसा नहीं है कि चिकित्सक इन समस्याओं से अनभिज्ञ हों लेकिन इसके बावजूद भी कॉलेज में ईलाज के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति को अंजाम दिया जा रहा है जिससे चिकित्सकों की कार्यप्रणाली पर कोई उंगली ना उठा सके।

गुरुवार को भी एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में ऐसा ही हाल देखने को मिला। लाचार गरीब मरीज इलाज के लिए एसएन मेडिकल इमरजेंसी के गेट पर ही बैठे हुए थे। एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी का हाल जानने के दौरान देखने को मिला कि एक मरीज जो स्ट्रेचर पर घंटों से पड़ा हुआ था उसको डॉक्टर शिफ्ट नहीं कर पाए और वह इलाज के लिए गुहार लगा रहा था।

दूसरी तस्वीर एक वृद्धा की देखने को मिली। वृद्धा के ऑक्सीजन लगी हुई थी और उसका बेटा ऑक्सीजन का सिलेंडर कंधे पर लादे खड़ा हुआ था। इमरजेंसी की यह सब तस्वीर भी देख कर चिकित्सकों का दिल नहीं पसीजता है।

यह आलम तो तब है जब मोदी और योगी सरकार दोनों ही मेडिकल कॉलेज में बेहतर व्यवस्थाएं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अगर दोनों सरकारों का दखल बिल्कुल भी ना हो तो ऐसे मेडिकल कॉलेज की स्थिति और ज्यादा दयनीय हो जाए। फिलहाल कुछ भी हो लेकिन सरकारी अस्पतालों की व्यवस्थाओं के कारण मरीज प्राइवेट हॉस्पिटल की ओर रुख कर लेता है और जो मरीज गरीब है वह इलाज के लिए एसएन के चक्कर ही लगाता रहता है। कभी-कभी तो इन चक्करों में उसकी मौत तक हो जाती है। फिलहाल यह तो आंखों देखा हाल है। इसकी दूसरी तस्वीर का नजारा तो शायद इस से भी बुरा होगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*