Home agra आगरा में नहीं लग सकी सेमी कंडक्टर बनाने की फैक्ट्री, हॉंगकॉंग की कंपनी अब जेवर में करेगी निवेश

आगरा में नहीं लग सकी सेमी कंडक्टर बनाने की फैक्ट्री, हॉंगकॉंग की कंपनी अब जेवर में करेगी निवेश

by admin

ग्लोबल इनवेस्टर समिट में हांगकांग की कंपनी टाउशिन ग्रुप को सेमी कंडक्टर बनाने की फैक्टरी लगाने के लिए आगरा जिले में 1500 एकड़ भूमि चाहिए थी लेकिन आगरा प्रशासन इतनी बड़ी जमीन की व्यवस्था नहीं कर पाया। इस कारण हॉंगकॉंग की कंपनी 1.54 लाख करोड़ रुपये का निवेश आगरा के बजाए अब जेवर (नोएडा) में करने जा रही है। अगर आगरा जिले में सेमी कंडक्टर बनाने के लिए जमीन मिल जाती तो फैक्ट्री खुलने के बाद तकरीबन 1 लाख लोगों को यहां रोजगार मिलता लेकिन अब यह सिर्फ एक सपना बनकर रह गया है।

टाउशिन इंटरनेशनल लिमिटेड ने ग्लोबल इनवेस्टर समिट के दौरान आगरा में 1.80 लाख करोड़ रुपये निवेश के लिए 10 एमओयू साइन किए थे। जिनमें 99,999 करोड़ रुपये और 54000 करोड़ रुपये कुल 1,53,999 करोड़ रुपये निवेश से आगरा में कंपनी सेमी कंडक्टर बनाने की फैक्टरी खोलती। फैक्टरी के लिए 500 एकड़ और 1000 एकड़ कुल 1500 एकड़ भूमि एकमुश्त चाहिए थी। जिला प्रशासन निवेशक के लिए भूमि की व्यवस्था नहीं कर सका। यह यूपी का पहला सबसे बड़ा सेमी कंडक्टर प्लांट बनना था।

अमेरिका, भारत व यूके में निवेश कर रही टाउशिन ग्रुप ने ग्लोबल इनवेस्टर समिट के दौरान फरवरी में आगरा के लिए 10 करार पर हस्ताक्षर किए थे। 1.80 लाख करोड़ रुपये का निवेश करना था। जिनसे करीब 65 हजार लोगों को आगरा में रोजगार मिलता।

  • एमएसएमई व एक्सपोर्ट प्रमोशन डिपार्टमेंट में 6509 करोड़ रुपये निवेश के 4 एमओयू।
  • वोकेशन एजुकेशन व स्किल डिपार्टमेंट में 246 करोड़ रुपये निवेश का 1 एमओयू।
  • वन विभाग में 410 करोड़ रुपये निवेश का एक एमओयू टाउशिन ग्रुप कंपनी ने किया था।
  • हैंडलूम एंड टेक्सटाइल डिपार्टमेंट में 5330 करोड़ रुपये निवेश का एक एमओयू हुआ था।
  • आईटी एंड इलेक्ट्रॉनिक्स डिपार्टमेंट में 1.54 करोड़ निवेश के दो एमओयू हस्ताक्षर हुए थे।
  • यूपी स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी से 8200 करोड़ रुपये निवेश का एक एमओयू।

क्या था इस निवेश में

  • 3.35 लाख करोड़ रुपये निवेश के प्रस्ताव आए।
  • 2.18 लाख करोड़ रुपये के एमओयू हस्ताक्षर हुए।
  • 1.05 लाख लोगों को मंडल में रोजगार मिलता।
  • 9000 करोड़ रुपये के एमओयू धरातल पर आए।
    (सभी आंकड़े प्रशासन की रिपोर्ट के अनुसार)

नहीं मिली इतनी बड़ी जमीन

जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने बताया कि टाउशिन ग्रुप के प्रतिनिधि आकर मिले थे। उन्हें एकमुश्त जमीन चाहिए। इतनी बड़ी जमीन यहां उपलब्ध नहीं थी। वह अपना प्रोजेक्ट अब जेवर (नोएडा) में शिफ्ट करेंगे। वहां इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास उनके लिए भूमि उपलब्ध होना बताया जा रहा है।

उद्योग विभाग के संयुक्त आयुक्त अनुज कुमार ने बताया कि टाउशिन ग्रुप ने 1.54 लाख करोड़ रुपये निवेश के दो एमओयू साइन किए थे। आगरा में सेमी कंडक्टर बनाने की फैक्टरी लगाते। निवेश के लिए कंपनी को जगह नहीं मिली।

मून ब्रेकिंग की ताजा अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से भी जुड़ सकते हैं

https://chat.whatsapp.com/E6bwKgK5C6nF8ZrBGNagWT

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: