महिलाओं ने बचपन के खेल खेल कर किया अपना बचपन याद

आगरा। बल्केश्वर बड़े पार्क के सामने स्थित वैचारिक सभागार में वैचारिक जागरण मिशन ट्रस्ट की महिलाओं ने अपने बचपन के पुराने खेलों को खेल कर और बचपन की वेशभूषा को पहनकर बाल दिवस को धूमधाम से मनाया।

वैचारिक जागरण मिशन ट्रस्ट की अध्यक्ष प्रतिभा जिंदल ने आज अपने कार्यालय वैचारिक सभागार पर 14 नवंबर बाल दिवस के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें उन्होंने बताया आजकल के युवा युवतियां अपने पुराने खेलों को पूर्ण रूप से भुला चुके हैं जिसको हमने ध्यान में रखकर आज अपने संस्थान में कुछ पुराने खेलों के साथ-साथ उन परिधानों को भी पहना जिन्हें वे बचपन में पहना करते थे।

संस्थान के अध्यक्ष ने बताया हमने अक्कड़ बक्कड़ बंबे बो, आटे बाटे दही चटाके, नीली पीली साड़ी, पोसम पा भाई पोशाम पा, चक चक पल्ले घर मंगनी, आदि कई तरह के खेल खेलकर बचपन की यादों को ताजा किया।

कार्यक्रम में महिलाओं ने बचपन में पहने जाने वाली ड्रेसेस स्कूल ड्रेस, फ्रॉक,आदि पहनकर छोटी कक्षाओं में बोले जाने वाले “मे आई गो टू टॉयलेट” “मे आई कम इन मैम” “प्लीज पिकनिक चलो ना” जैसी बातों से बचपन का माहौल बनाया और भरपूर रूप से बचपन का आनंद उठाया।

इस कार्यक्रम की शुरुआत ट्रस्ट की अध्यक्ष प्रतिभा जिंदल व सचिव दीपिका अग्रवाल ने गणेश प्रतिमा पर दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस अवसर पर कोषाध्यक्ष स्वीटी गोयल उपाध्यक्ष अनीता मित्तल खुशबू अग्रवाल आदि ने व्यवस्था संभाली एवं इस कार्यक्रम में श्वेता, चंचल,मेघा आशा अग्रवाल, मनीषा, रश्मि, मीनाक्षी, निशा, रजनी, मधु,अंजली,सुमन आदि महिलाएं मौजूद रही

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*