पुलिस की गोली से 8 वर्षीय बालक की मौत, पुलिस के खिलाफ आक्रोश

मथुरा। थाना हाईवे क्षेत्र के गांव अड़ूकी (मोहनपुर) में आज शाम पुलिस की गोली से 8 वर्षीय एक बालक की मौत हो गई। इस घटना से ग्रामीणों में रोष है और पुलिस ग्रामीणों को समझाने बुझाने में लगी हुई है। घटना बुधवार शाम करीब 4:45 बजे की बताई गई है। बताया जाता है कि थाना हाईवे के दरोगा वीरेंद्र सिंह और एक पुलिसकर्मी बाइक से शिवशंकर नाम के ग्रामीण के घर पहुंचे। वृद्ध ग्रामीण शिव शंकर ने उनसे पूछा कि वह कैसे आए हैं तो उन्होंने कहा कि कुछ नहीं, हम ऐसे ही आए हैं। आप किसी प्रकार की चिंता न करें। इसके कुछ ही देर बाद एक गोली चली और खेलते हुए शिव शंकर के 8 वर्षीय नाती माधव के सिर में लगी। यह देख दरोगा और पुलिसकर्मी के हाथ-पांव फूल गए।

पुलिसकर्मियों ने आनन-फानन में बोलेरो गाड़ी बुलाई और परिवार के 2 लोगों के साथ बच्चे को लेकर अस्पताल पहुचे। लेकिन करीब 2 किलोमीटर आगे चलते ही नवादा के पास हाईवे पर पहुँचते ही पुलिसकर्मियों ने अपना रंग दिखाया और मुठभेड़ में जाने की कहने की बात कह कर बच्चे को किसी टेंपो से अस्पताल ले जाने के लिए परिजनों से कहने लगे। परिजन किसी तरह बच्चे को लेकर नयति अस्पताल पहुंचे, जहां भारी पुलिस फोर्स के अलावा एसपी सिटी श्रवण कुमार भी पहुंचे। बाद में एसएसपी स्वप्निल ममगाई भी नयति आ गए। इस बीच 2 दर्जन से अधिक ग्रामीण भी अस्पताल आ गए। ग्रामीणों ने इस घटना पर अपना आक्रोश जताया और अपने तेवर भी पुलिस को दिखा दिए।

एसपी सिटी श्रवण कुमार ने इतना ही बताया कि पुलिस वहां पर बदमाश की सूचना पर गई थी। गोली कैसे चली, किसने चलाई, बच्चे को कैसे लगी, यह जांच के बाद ही पता चलेंगा।

ग्रामीणों का कहना था कि दरोगा की पिस्टल से चली गोली बच्चे को लगी जिससे उसकी मृत्यु हुई है। इसलिये दोषी पुलिस कर्मियो के खिलाफ मुकदमा लिखा जाना चाहिये। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए एसएसपी ने ग्रामीणों को दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किए जाने का भरोसा दिलाया है।

रिजॉर्ट जीवनदीप कल्यान मथुरा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*