Home बड़ी खबर पीएम, सीएम ने किया बड़ी पहल का ऐलान, अनाथ हुए बच्चों को मिलेंगी ये सुविधाएं

पीएम, सीएम ने किया बड़ी पहल का ऐलान, अनाथ हुए बच्चों को मिलेंगी ये सुविधाएं

by admin
PM CM announces big initiative, orphaned children will get these facilities

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा अपने दूसरे कार्यकाल के 2 साल बेमिसाल पूरे होने की पूर्व संध्या पर शनिवार को कोरोना से प्रभावित उन बच्चों के लिए बड़ी पहल की है जिन्होंने कोरोना की मुश्किल घड़ी में अपने माता-पिता या संरक्षक को खो दिया। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे बच्चों के हित में एक बड़ी घोषणा की है। वहीं उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने भी प्रधानमंत्री के समर्थन से राज्य में अनाथ हुए ऐसे बच्चों के लिए विशेष योजना की रूपरेखा तैयार करके घोषणा की है।प्रधानमंत्री ऑफिस से एक बयान जारी हुआ , जिसमें कहा गया कि, “महामारी के कारण माता-पिता या अभिभावक को खोने वाले सभी बच्चों को पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत सहायता दी जाएगी। साथ ही कहा कि ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र में मासिक वजीफा और 23 साल की उम्र में पीएम केयर्स से 10 लाख रुपए का फंड मिलेगा।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बच्चों की पूरी पढ़ाई और रखरखाव का खर्चा भी पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन के द्वारा उठाया जाएगा।वहीं इन बच्चों की शिक्षा व्यवस्था केंद्रीय विद्यालयों और प्राइवेट स्कूलों में भी की जाएगी।इसके साथ ही यूनिफार्म, पठन-पाठन सामग्री का भी खर्चा उठाना सरकार की जिम्मेदारी रहेगी। अगर ये बच्चे आगे उच्च शिक्षा लेना चाहते हैं तो उसके लिए एजुकेशन लोन मिलने में सहायता भी सरकार द्वारा की जाएगी।इतना ही नहीं आयुष्मान भारत के तहत बच्चों को 18 साल तक 5 लाख रुपए का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा भी मिलेगा और प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स की ओर से किया जाएगा। दरअसल प्रधानमंत्री मोदी का कहना है कि बच्चे देश के भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं। बच्चों के समर्थन और सुरक्षा के मद्देनजर समाज के रूप में हमारा कर्तव्य है कि उन्हें वे सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं जिसके वे हकदार हैं। उत्तर प्रदेश के लिए भी यह खास बात है कि शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी विशेष योजना को लागू करने का निर्णय लिया है और कहा कि यूपी में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के नाम पर यह योजना चलाई जाएगी।

इस योजना के तहत यूपी सरकार की ओर से कोरोना महामारी की वजह से अनाथ हुए बच्चों की देखभाल के लिए केयरटेकर को ₹4000 प्रतिमाह दिए जाएंगे। वहीं 10 साल की आयु से कम बच्चे जिन्होंने अपने माता पिता को खो दिया है ऐसे बच्चों को राजकीय बाल गृह में रखा जाएगा। दरअसल यूपी में मथुरा, लखनऊ ,प्रयागराज ,आगरा और रामपुर में पांच राजकीय बाल गृह मौजूद हैं जिनमें ऐसे बच्चों को व्यवस्थाएं मुहैया कराई जाएंगी। वहीं अवयस्क बच्चियों की देखभाल और पढ़ाई के लिए कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय को जिम्मेदारी दी जाएगी। इतना ही नहीं 18 अटल आवासीय विद्यालयों में भी देखभाल की जाएगी। वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने अनाथ हुई बालिकाओं की शादी के लिए ₹101000 देने की घोषणा भी की है। साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्कूल में पढ़ने वाले और व्यवसायिक शिक्षा लेने वाले ऐसे विद्यार्थियों को टैबलेट और लैपटॉप देने की घोषणा भी की है।

Related Articles

%d bloggers like this: