फर्ज़ी डॉक्टर की लापरवाही से महिला मौत के क़रीब, अब अधिकारियों की कार्यवाई ही बचा सकती है जान

आगरा। फतेहाबाद क्षेत्र में फर्जी डॉक्टरों के सामने स्वास्थ्य विभाग अधिकारी बौने नजर आ रहे हैं। फर्जी डॉक्टरों द्वारा खुलेआम गर्भपात व डिलीवरी का खेल खेला जा रहा है। इससे आए दिन इन फर्जी डॉक्टरों के शिकार तमाम महिलाएं हो रही हैं। पीड़ितों द्वारा जब इन फर्जी डॉक्टरों के विरुद्ध शिकायत की जाती है तो अधिकारियों भी फर्जी डॉक्टरों के विरुद्ध कोई कार्यवाही ना करने से इनके हौसले बुलंद होते जा रहे हैं।

कस्बा निवासी धरमजीत पुत्र हरि विलास की पत्नी कुसुमा 3 माह की गर्भवती भी एक फर्ज़ी डॉक्टर की शिकार हो गयी। 11 जनवरी को उसके पेट में दर्द हुआ था तो एक आशा कार्यकत्री की बातों में आकर कस्बा में स्थित एक फर्जी हॉस्पिटल पर महिला ने अपना चेक अप कराया। जहाँ लापरवाह डॉक्टर द्वारा गर्भवती महिला के पेट में बच्चा मर जाने व जल्दी डीएनसी ना कराने पर सेप्टिक फैलने का डर दिखाकर उसके परिवारीजनों से ₹20000 जमा करा लिए और रात्रि के समय एक नर्स को लेकर महिला की डीएनसी कर दी।

इससे कुसमा की हालत बिगड़ती गई। डॉक्टर द्वारा रात्रि को ही आगरा भेज दिया लेकिन लाखों रुपए खर्च होने के बाद भी कुसमा की हालत में सुधार नहीं आया। डॉक्टरों ने अस्पताल से उसकी छुट्टी भी कर दी। तब से लेकर आज तक पीड़ित महिला का पति धर्मजीत अधिकारियों के फर्ज़ी डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाई को लेकर अपनी फरियाद लेकर कार्यवाही की गुहार लगा रहा है।

पीड़ित ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जिला अधिकारी, महिला आयोग, SSP सहित सभी अधिकारियों को शिकायती पत्र देकर फर्जी डॉक्टरों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही की गुहार लगाई। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आज फिर धर्मजीत सिंह द्वारा उप जिलाधिकारी फतेहाबाद व क्षेत्राधिकारी फतेहाबाद को शिकायती पत्र देकर अवगत कराया कि अब मेरे पास पत्नी का इलाज कराने पैसा नहीं है। मेरी पत्नी बिना इलाज के घर पर पड़ी जिंदगी मौत से जूझ रही है। साहब ऐसे फर्जी डॉक्टरों को सजा मिलनी चाहिए जिससे मुझे बर्बाद कर दिया और मेरी पत्नी को मौत के मुंह पर लाकर खड़ा कर दिया।

इस पर उप जिलाधिकारी द्वारा धर्मजीत को आश्वासन दिया कि शीघ्र ही जांच कराकर फर्जी डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

अब देखना यह है कि उप जिलाधिकारी फर्जी डॉक्टरों के विरुद्ध कार्यवाही कर पीड़ित को न्याय दिला पाएंगे या पीड़ित इसी प्रकार कार्यवाही की मांग को लेकर दर दर की ठोकर खाता रहेगा और फर्जी डॉक्टरों का कारोबार इसी प्रकार चलता रहेगा

About admin 5845 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*