फ़िरोज़ाबाद के लाल ने हासिल किया वह मुकाम कि पूरे विश्व में हुआ देश का नाम रोशन

फ़िरोज़ाबाद। जिले के एल लाल ने आज वो कर दिखाया है जिसके बाद उसके परिजन ही नही बल्कि शहर के साथ प्रदेश और देशवाशियों को उस पर नाज है। फिरोजाबाद के इस लाल ने साउथ अफ्रीका में सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजरो को फतह किया है और अपनी जीत का जश्न मनाया। जिले के इस लाल ने किलिमंजरो पर भारतीय तिरंगा फहराकर पूरे विश्व में भारत की पताका को फहराया है। साउथ अफ्रीका में सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजरो को फतह कर उस पर भारतीय तिरंगा फहराकर लौटे अनिल का जिले में जोरदार स्वागत किया। सभी ने अनिल के साहस की सराहना की और उसे जिले के गौरव सम्मान से पुकारने लगे।

पर्वतारोही अनिल यादव ने बताया कि साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजरो को फतह करने का मिशन 15 जुलाई से शुरू हुआ था और 26 जुलाई को उस चोटी पर भारतीय तिरंगा लहरा रहा था। इस अभियान को मिशन पॉसिबल ने व्यवस्थित किया था। इस अभियान में उत्तरकाशी के अटल विहारी वाजपेयी इंस्टिट्यूट से बेसिक व एडवांस कोर्स कर एक साहसी बेटे देवयानी सेमवाल ने भी साथ दिया। इन्होने अब तक भारत में अनेकों पर्वत श्रखलाओं के साथ साथ कई जोखिम भरे ट्रैक पूरे किये है। इनका लक्ष्य यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एलब्रुस व माउन्ट एवरेस्ट को फतह कर भारत का गौरव बढ़ाने का काम किया है।

पर्वतारोही अनिल यादव ने बताया कि हमारा उद्देश्य स्वतंत्रता दिवस से पहले इस चोटी को फतह कर सबसे बड़ा तिरंगा फहराकर अभियान को पूर्ण किया गया है। पर्वतारोही अनिल यादव ने बताया कि अपने साथियों के साथ उन्होंने 17 किलो के तिरंगे के साथ पांच हजार आठ सौ पिच्यानवे मीटर की चढ़ाई पूरी की। इसमें टीम लीडर नरेंद्र यादव हरियाणा से और देवयानी सेमवाल उत्तरकाशी से टीम में शामिल रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*