Home आगरा आगरा विवि में निरीक्षण के दौरान कुलाधिपति ने कहा – ‘बहुत बदनामी हो रही है, यहां का माहौल सुधारो’

आगरा विवि में निरीक्षण के दौरान कुलाधिपति ने कहा – ‘बहुत बदनामी हो रही है, यहां का माहौल सुधारो’

by admin

आगरा। आज रविवार को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल डॉ भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय का निरीक्षण करने के लिए आगरा आई हुईं थी। कुलाधिपति आनंदीबेन दोपहर लगभग 1:30 बजे आगरा विश्वविद्यालय के खंदारी कैंपस पहुंची। यहां उन्होंने विभिन्न परिसरों एवं विभागों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कुलाधिपति ने परीक्षा नियंत्रक से कहा कि ‘आगरा विश्वविद्यालय की बहुत बदनामी हो रही है, यहां का माहौल सुधारो।’

खंदारी कैंपस में लगभग डेढ़ घंटे तक कुलाधिपति आनंदीबेन ने विभिन्न विभागों का निरीक्षण किया इसके बाद वे सिविल लाइंस स्थित संस्कृति भवन में पहुंची जहां विश्वविद्यालय अधिकारियों ने उन्हें आर्ट गैलरी दिखाई। यहां पर छात्र-छात्राओं द्वारा ड्राई फ्रूट की प्रदर्शनी भी लगाई गई थी। कुलपति विनय कुमार पाठक ने कुलाधिपति को अवगत कराया कि यह बिल्डिंग 2 साल से बंद थी, शिक्षक भी नहीं थे। लेकिन अब इस विभाग को शुरू कर सभी उपयुक्त संसाधन जुटाए गए हैं। यहां से जाते समय कुलाधिपति की नजर बढ़ी हुई घास पर पड़ी तो उन्होंने नाराजगी जताई और कहा कि घास को कटवा कर लॉन को अच्छा बनाइए।

कुलाधिपति ने छलेसर कैंपस का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि आगरा विश्वविद्यालय का परीक्षा विभाग जल्द ही छलेसर कैंपस में आ जाना चाहिए। इसको लेकर फार्मेसी विभाग के निदेशक डॉ बृजेश तिवारी ने कुलाधिपति के सामने प्रेजेंटेशन दिखाया। जानकारी दी गई कि सभी चार्टों का डिजिटलाइजेशन किया जा रहा है।

कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल चौक आगरा विश्वविद्यालय के पालीवाल परिसर में पहुंची तो यहां उन्हें चारों ओर खामियां ही खामियां नजर आईं। लाइब्रेरी के पास टंकी के नीचे पानी फेल रहा था, टॉयलेट में से बदबू आ रही थी, जगह-जगह से छत भी टूटी पड़ी हुई थी। इस पर कुलाधिपति ने अपनी नाराजगी जताई। कुलसचिव कार्यालय और फिर परीक्षा नियंत्रक कार्यालय का निरीक्षण करने के बाद कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने परीक्षा नियंत्रक से कहा कि ‘यहां की बहुत बदनामी हो रही है यहां का माहौल सुधारो।’

कुलाधिपति के दौरे के दौरान साथ में उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय, प्रति कुलपति प्रोफेसर अजय तनेजा, कुलसचिव विनोद कुमार सिंह, ओएसडी पंकज जानी, प्रोफेसर संजय चौधरी, प्रोफेसर संजीव शर्मा और प्रोफेसर लवकुश मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: