Home राजनीति ‘किसी भी पार्टी से नहीं होगा गठबंधन, यूपी में प्रियंका गांधी एक ही चेहरा’ – पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद

‘किसी भी पार्टी से नहीं होगा गठबंधन, यूपी में प्रियंका गांधी एक ही चेहरा’ – पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद

by admin
'There will be no alliance with any party, Priyanka Gandhi is one face in UP' - Former Union Minister Salman Khurshid
Spread the love

Agra. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के यूपी दौरे के बीच केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद चुनावी घोषणा पत्र तैयार करने के लिए लोगों को मन टटोल रहे हैं। रविवार को सलमान खुर्शीद ने फतेहाबाद रोड पर ग्रामीणों और दलित बस्तियों में दौरा कर लोगों से वार्ता की और उनकी समस्याओं को जाना तो वहीं लोहामंडी अग्रसेन सेवा सदन में व्यापारियों और पार्टी कार्यकर्ताओं से वार्ता की, घोषणा पत्र से संबंधित सुझाव और विचार मांगे। इस दौरान वह पत्रकारों से भी रूबरू हुए।

पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यूपी चुनाव में कांग्रेस का केवल एक ही चेहरा है और वह है प्रियंका गांधी वाड्रा। आगामी विधानसभा चुनाव कांग्रेस पार्टी प्रियंका गांधी के नेतृत्व में ही लडे़गी। हालांकि सलमान खुर्शीद ने ये भी स्पष्ट किया कि न तो प्रियंका गांधी ने अधिकृत रूप से यह घोषणा की है और न ही हमें घोषणा करने का अधिकार है कि मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा? हम अपने नेतृत्व का चेहरा लेकर ही यहां आए हैं और वह चेहरा प्रियंका गांधी वाड्रा है।

आम आदमी का होगा घोषणा पत्र

सलमान खुर्शीद ने कहा कि प्रियंका गांधी के दिशा-निर्देश पर पूरे प्रदेश में भ्रमण कर सर्व समाज के लोगों से मुलाकात की जा रही है। इस दौरान उनकी समस्याओं को जाना जा रहा है और विकास को लेकर उनसे रायशुमारी भी की जा रही है। कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र में इस बार आम आदमी की बात पूरी तरह से शामिल होगी यानी कांग्रेस यूपी का चुनावी घोषणा पत्र आम आदमी का घोषणा पत्र होगा।

प्रेस वार्ता के दौरान सलमान खुर्शीद ने बताया कि लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं के बारे में पता चला। किसी ने विधवा पेंशन, किसी ने राशन तो किसी ने विकास ना होने की समस्या को उनके सामने रखा है। वहीं व्यापारियों से भी वार्ता हुई है। उन्होंने भी अपनी विभिन्न समस्याओं से उन्हें रूबरू कराया है, स्थानीय स्तर पर सभी लोगों की एक जैसी समस्याएं हैं जिन्हें घोषणा पत्र में शामिल किया जाएगा।

किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने दो टूक शब्दों में कहा कि अगर उन्हें किसी पार्टी से गठबंधन करना होता तो वह उन क्षेत्रों में मेहनत करते हैं जिन विधानसभा क्षेत्रों में उन्हें छूट मिलनी है लेकिन वह पूरे प्रदेश में भ्रमण कर रहे हैं। आम व्यक्ति की बात जान रहे हैं तो स्पष्ट है कि कांग्रेस यूपी चुनाव अपने दम पर अकेले लड़ेगी। उन्होंने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा जमीनी स्तर पर मेहनत कर रही हैं और वह चेहरा कांग्रेस के लिए काफी है और इसके अतिरिक्त कोई और लेबल लगाने की गुंजाइश ही नहीं रह जाती।

ब्राह्मण सियासत पर कहा ये

समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी द्वारा ब्राह्मण समाज को लेकर जो सियासत देखने को मिली है उस पर सलमान खुर्शीद ने कहा कि कभी समाज पर सियासत होती है, कभी धर्म पर सियासत होती है तो कभी भगवान पर सियासत होती है लेकिन कांग्रेस पार्टी सर्व समाज, सर्व धर्म को साथ लेकर चलती है। वह किसी धर्म और समाज पर सियासत नहीं करती।

दलित-मुस्लिम वोट को रिझाने की कोशिश

उत्तर प्रदेश में लगभग 30 सालों से कांग्रेस की सरकार नहीं है और जनाधार भी लगातार घटा चला गया। कांग्रेस का परंपरागत वोटर दलित और मुस्लिम भी उससे चटक गया। इस पर सलमान खुर्शीद ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हमसे हमारा परंपरागत वोट दूर हुआ है, इसीलिए उसे मनाने के लिए हम सड़कों पर उतरे हैं। गली गली, मोहल्ले मोहल्ले जाकर उनसे वार्ता कर रहे हैं। जो गलतफहमियां हम लोग के बीच बनी हैं, उसे दूर करने का प्रयास किया जा रहा है जिससे उन्हें हमारी बात समझ आ सके।

किसानों का आंदोलन बिल्कुल सही

केंद्र सरकार के कृषि बिलों के विरोध में किसानों ने जो मोर्चा खोला है उसे सलमान खुर्शीद ने बिल्कुल ठीक बताया है। उनका कहना है कि वह किसानों के साथ पूरी तरह से खड़े हुए हैं। किसानों ने 1 साल तक जो अपना आंदोलन अनवरत चलाया है। इसके लिए साधुवाद के पात्र हैं और कांग्रेस पार्टी उनके हर आंदोलन में साथ खड़ी है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ के चेयरमैन विनोद बंसल ने बताया कि आज लोहामंडी अग्रसेन सेवा सदन में उत्तर प्रदेश चुनाव घोषणा पत्र समिति के सदस्यों से आगरा शहर के प्रमुख व्यक्तियों और व्यवसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की है। इस दौरान व्यवसायियों ने अपनी समस्याओं को कांग्रेस के सामने रखा है। व्यवसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने जीएसटी और पुलिस की अव्यवहारिक कार्यप्रणाली को सभी के सामने रखा है। उन्होंने बताया कि जीएसटी में आ रही दिक्कतों से व्यापारी परेशान है तो वहीं व्यापारियों के साथ बढ़ रहे अपराध पर अंकुश लगाने में पुलिस नाकाम है। जब व्यापारी शिकायत करने पहुंचता है तो उसके साथ पुलिस दुर्व्यवहार करती है। देश की आर्थिक व्यवस्था में व्यापारियों का अहम योगदान है लेकिन सम्मान के नाम पर सिर्फ उनका शोषण किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ के चेयरमैन ने कहा कि कांग्रेस व्यापारियों की हर समस्या की लड़ाई को लड़ने को तैयार है।

Related Articles