Home क्राइम दबिश के दौरान दरोगा को छत से फेंकने वाला आरोपी हुआ गिरफ़्तार, दोबारा फ़रार हो जाने की उड़ी अफ़वाह

दबिश के दौरान दरोगा को छत से फेंकने वाला आरोपी हुआ गिरफ़्तार, दोबारा फ़रार हो जाने की उड़ी अफ़वाह

by admin
The accused who threw the inspector from the roof during the raid was arrested, there was a rumor of absconding again

Agra. दबिश को गए दारोगा को छत से फेंकने के मामले में फरार चल रहा आरोपित डेढ़ वर्ष से बाद पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। आरोपित को गिरफ्तार कर फाउंड्री नगर चौकी ले जाया गया है, जहाँ पुलिस ने अभियुक्त के खिलाफ कार्यवाही की गई।
बताया जाता है कि अभियुक्त दरोगा को छत से फेंकने के अलावा पूर्व में छेड़छाड़ और घर में घुसकर मारपीट करने के मुकदमे में भी वांछित चल रहा था।

मामला एत्माद्दौला के फाउंड्री नगर क्षेत्र का है। राकेश नगर निवासी सोनू सिंह के खिलाफ वर्ष 2019 में छेड़छाड़, घर में घुसकर मारपीट, बलवा व अन्य धाराओं में एत्माद्दौला थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मुकदमे में वह वांछित था। 17 फरवरी 2020 को आरोपित की गिरफ्तारी को दारोगा नफीस पुलिस टीम के साथ उसके घर पहुंचे। आरोपित की गिरफ्तारी का प्रयास किया। इस दौरान आरोपित ने दारोगा को छत से फेंक दिया। इसमें उनके काफी चोट आई थी। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर लिया मगर आरोपित को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी।

शुक्रवार को पुलिस ने आरोपित की गिरफ्तारी को घर में दबिश दी। इस दौरान साेनू और उसके पिता मलखान सिंह मौके पर मिल गए। मलखान सिंह भी मुकदमों में नामजद थे। मगर, उन्होंने कोर्ट से जमानत करा ली थी। पुलिस चौकी पहुंचने पर मलखान सिंह ने जमानत की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ करके मलखान को छोड़ दिया। इंस्पेक्टर एत्माद्दौला देवेंद्र शंकर पांडेय ने बताया कि आरोपित सोनू को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसको कोर्ट में पेश किया जा रहा है।

सोनू और उसके पिता को पुलिस पकड़कर फाउंड्री नगर चौकी में ले आई। इसके बाद पिता के साथ सोनू के भी पुलिस के चंगुल से छुड़ाने की चर्चाएं क्षेत्र में हुई थीं। चर्चाएं थी कि आरोपित को कुछ लोग पुलिस चौकी से ले गए। मामला अधिकारियों तक पहुंचा तब उसे दोबारा से पुलिस ने दबोच लिया। इंस्पेक्टर एत्माद्दौला का कहना है कि आरोपित को गिरफ्तार कर पुलिस चौकी फाउंड्री नगर में लाया गया था। यहां से उसे थाने में लाया गया। तभी कुछ लोगों ने आरोपित के भागने की अफवाह उड़ाई थी।

Related Articles

%d bloggers like this: