कृषि विधेयक पारित कर किसानों को उद्योगपतियों का गुलाम बनाना चाहती है मोदी सरकार – कांग्रेस

आगरा। संसद में पारित हुए कृषि विधेयक के विरोध में शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता सड़कों पर नजर आये। इस विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शहर अध्यक्ष देवेन्द्र कुमार चिल्लू के नेतृत्व में प्रदर्शन किया और इस बिल के विरोध में सुभाष पार्क से जिला मुख्यालय के लिए पैदल मार्च करते निकले लेकिन पहले से ही तैनात भारी पुलिस बल ने नाई की मंडी चौराहे पर ही कांग्रेसियों को रोक दिया। चौराहे पर मौजूद एसीएम वीरेन्द्र मित्तल ने शहर कांग्रेस के राष्ट्रपति महोदय के नाम संबोधित ज्ञापन लिया।

इस प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सड़कों पर मोदी सरकार के कृषि विधेयक के विरोध में उतरे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने “किसान विरोधी मोदी सरकार नहीं चलेगी” के नारे लगाए और कृषि विधेयक के विरोध में अपना आक्रोश जताया।

शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष देवेन्द्र कुमार चिल्लू ने कहा कि बीजेपी वव मोदी सरकार ने चोर दरवाजे से कृषि विधेयक पारित करके किसानों की आत्मा को अपने उद्योगपति मित्रों के सामने बेचने का बहुत ही निंदनीय कृत्य किया है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इन विधेयकों से देश में आवश्यक वस्तुओं की काला बाजारी व जमाखोरी बढ़ेगी।

देवेंद्र चिल्लू ने कहा कि नोट बंदी, जीएसटी, सरकारी संस्थाओं को बेचने के बाद मोदी जी व उनके उद्योगपति मित्रों की बुरी नजर देश के अन्नदाताओं की खेती पर लगी हुई थी और अब इस क्षेत्र को भी ये लोग उजाड़ने में लग गए हैं। शहर अध्यक्ष ने चेतावनी देते हुए कहा कि कांग्रेस जन सड़क से सदन तक देश के करोड़ों किसान, मजदूरों, गरीबों की लड़ाई इन काले कानूनों के विरूद्ध जारी रखेगी और इस विनाशकारी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकेगी।

कांग्रेस नेत्री डॉ. मधुरिमा शर्मा ने मोदी व बीजेपी से पूछा कि वह देश की जनता को बताए कि आम जनता की रोजमर्रा की वस्तुओं से आवश्यक वस्तु अधिनियम क्यों समाप्त किया गया और असीमित भंडारण की छूट उद्योगपतियों को क्यों दी गई है, क्या इससे कालाबाजारी, जमाखोरी व मंहगाई नहीं बढ़ेगी।

शहर कांग्रेस प्रवक्ता आईडी श्रीवास्तव ने कृषि बिल को मोदी सरकार का जुमला बताते हुए कहा है कि जब मोदी जी के चन्द उद्योगपति मित्र सीधे ही किसान से फसल औने पौने दामों में खरीद लेंगे, तो फिर एमएसपी व मंडिया तो अपने आप समाप्त हो जाएंगी।

कांग्रेस जनों ने राष्ट्रपति से मांग की है कि वह कृषि विधेयक पर अपने हस्ताक्षर नहीं करें और सरकार को आदेश दे कि वह संसद में देश के किसानों व विपक्षी दलों की मांगों को शामिल कर नया कृषि संशोधन बिल पारित कराए।

कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व पार्षद अशोक शर्मा, नंदलाल भारती, विराग जैन, कपिल गौतम, विनोद ज़रारी, अजहर वारसी, शिल्पा दीक्षित, शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष माया माहौर, मुन्ना लाल वर्मा, हबीब कुरैशी, अश्वनी कुमार बिट्टू, हुकुम सिंह कुशवाह, संतोष चौधरी, आरपी सिंह, डीपी सिंह बघेल, ताहिर हुसैन, राकेश पाठक, राजकुमारी जाटव, सायरा बानो, चन्द्र मोहन जैन मोनू, मुकेश शर्मा आदि मौजूद रहे।

About admin 4805 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।