इधर मन रही थी होली उधर बेड पर लेटा था सांप, वाइल्डलाइफ टीम ने किया रेस्क्यू

आगरा। लगभग 3 फुट लंबे एक सांप ने ताजगंज स्थित एक घर में उस समय अफरा तफरी मचा दी जब घर में मौजूद लोगों ने उस सांप को बेड पर आराम फरमाते हुए देख लिया। सांप को बेड पर देखकर लोगों की चीखपुकार निकल गयी। चीख पुकार सुनकर कमरे की ओर दौड़े लोग सांप को इस स्थिति में देखकर स्तब्ध रह गए। लोगों ने तुरंत इसकी वन विभाग और वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस टीम को दी। सांप की जानकारी होते ही वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस की टीम रेस्क्यू करने पहुँची और सांप को रेस्क्यू कर प्राकृतिक आवास में छोड़ दिया।

वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस पदाधिकारियों ने बताया कि जब
लोग होली को हर्षोल्लास से मना रहे थे। तभी वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस की 24-घण्टे इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर पर आगरा के ताजगंज स्थित 15वीं बटालियन, पी.ए.सी क्वार्टर में एक स्नेक के होने की शिकायत मिली कि घर के एज बेड पर सांप बैठा हुआ है। शिकायत पर तुरंत मदद के लिए वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस ने वन्यजीव संरक्षण संस्था से तुरंत दो प्रशिक्षित साँप रेस्कुएर की एक टीम घटना स्थल पर भेजी। रेस्क्यू टीम ने सांप को बिना हानि पहुँचाये पकड़ लिया। सांप के स्वस्थ की जांच की वो स्वस्थ्य स्थिति में पाया गया और बाद में वापस अपने प्राकृतिक आवास में छोड़ दिया गया।

राम किशन ने बताया कि वह बेड पर बैठा हुआ था तभी अचानक मुझे कुछ इंच दूरी पर बेड पर ही साँप दिखा। वह अपने परिवार के साथ बाहर निकला और वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क किया। जिन्होंने सांप को रेस्क्यू कर हमें राहत दी है।

वाइल्डलाइफ एस.ओ.एस के सह-संस्थापक और सीईओ कार्तिक सत्यनारायण ने बताया कि रेस्क्यू किया गया सांप वुल्फ प्रजाति का था। हमे खुशी है कि परिवार ने हमारी टीम को इस घटना की सूचना दी और सांप से छुटकारा पाने के लिए कोई कठोर कदम नहीं उठाया। गलत धारणाओं के कारण, लोगों में सांपो के बारे में नकारात्मक राय है। वुल्फ स्नेक विषैली प्रजाति नहीं हैं और आमतौर पर शहरी आवास में पाए जाते हैं। वे अक्सर अत्यधिक विषैले कॉमन क्रेट सांप की तरह दिखने की वजह से लोगों की घृणा का शिकार होते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*