संभलकर जाएं कलेक्ट्रेट, हो सकता है चालान

सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन कराने और हेलमेट व्यवस्था को प्रभावी रूप से लागू करने के लिए जिले जिले के पुलिस कप्तान अमित पाठक ने स्थानीय पुलिस को कड़े दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

बताते चलें कि गुरुवार दोपहर को एसएसपी अमित पाठक अपने कार्यालय से निकलकर कलेक्ट्रेट की मुख्य द्वार तक आए थे। मुख्य द्वार पर खड़े एसएसपी ने बिना हेलमेट मोटरसाइकिल पर सवार पुलिसकर्मियों और आम लोगों को हेलमेट धारण करने के दिशा निर्देश दिए थे। इसके बाद स्थानीय पुलिस के आला अफसरों को कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार पर तैनात किया गया और जो लोग बिना हेलमेट के कलेक्ट्रेट में आने का प्रवेश करेंगे उनके उन्हें कलेक्ट्रेट में बिना हेलमेट में आने की अनुमति नहीं है।

पुलिस कप्तान के आदेशों का असर शुक्रवार सुबह देखने को मिला। सुबह से ही कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार पर ट्रैफिक पुलिसकर्मी चालान शीट लेकर खड़े हो गए और जो लोग कलेक्ट्रेट के अंदर मोटरसाइकिल पर सवार होकर बिना हेलमेट के प्रवेश करना चाह रहे थे। पुलिसकर्मियों ने रोक कर पहले हेलमेट धारण करने के दिशा निर्देश दिए और उसके बाद उनका चालान भी काटा।

एसएसपी अमित पाठक का कहना है कि सड़क हादसों में कमी लाने के लिए और हेलमेट को धारण करने के लिए इस तरीके के अभियान को जारी रखा गया है और शहर के कलेक्ट्रेट के अलावा अन्य प्रमुख चौराहों पर भी सभी राजपत्रित अधिकारी आकस्मिक चेकिंग करेंगे और हेलमेट धारण करने के लिए पब्लिक में जागरुकता के साथ साथ स्थानीय पुलिस को दिशा निर्देश जारी करेंगे।

कप्तान के आदेश का असर पूरे शहर में देखा जा रहा ह । जहां एक तरफ कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार पर तैनात पुलिस हेलमेट, वाहन चालकों के चालान कर रही है तो वहीं अन्य चौराहों पर यह कमान ट्रैफिक पुलिस ने संभाल रखी है। एसएसपी का दावा है कि आने वाले दिनों में इस अभियान से शहर की तस्वीर और तकदीर बदलेगी बल्कि मोटरसाइकिल पर सड़क हादसों में होने वाली मौतों में भी कमी आएगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*