मीना देवी चक 22 साल पहले का इतिहास दोहराने को तैयार

फतेहाबाद, आगरा। पिछले 22 साल बाद एक बार फिर फतेहाबाद नगर पंचायत अध्यक्ष पद की सीट अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित हुई है। 22 साल पहले भाजपा की टिकट मांगने वाली मीना देवी चक को भाजपा द्वारा टिकट न देकर प्रेमा देवी आर्य को टिकट दे दिया था जब मीना देवी चक निर्दलीय चुनाव मैदान में उतारी थी और भाजपा प्रत्याशी प्रेमा देवी के छक्के छुड़ा दिए थे। मीना देवी चक ने 800 से अधिक वोटों से भाजपा प्रत्याशी को हराकर नगर पंचायत अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया था और भाजपा को सीट गवानी पड़ी थी।

अब जबकि 22 साल बाद एक बार फिर फतेहाबाद नगर पंचायत की सीट अनुसूचित जाति की महिला के आरक्षित होने से कई महिला प्रत्याशी चुनाव को ढाल ठोक रहे हैं और भाजपा और सपा से टिकट की दावेदारी कर रही हैं। 1995 में भाजपा प्रत्याशी को हराकर जीतने वाली मीना देवी चक फिर भाजपा से टिकट की दावेदारी कर रही हैं। भाजपा से 2 महिला प्रत्याशी बेऱिया समाज से वधू महिला प्रत्याशी खटीक समाज एक गौतम समाज से टिकट की दावेदारी कर रही हैं। अगर इस बार भी भाजपा ने मीना देवी चक को टिकट नहीं दिया तो वह इस बार भी निर्दलीय चुनाव मैदान में कूदने का पूरा मन बना चुकी है।

यही हाल सपा का है इसमें भी दो प्रत्याशी बेरिया समाज एक बाल्मीक समाज व एक जाटव समाज से टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। वहीं बसपा व कांग्रेस की टिकट मांगने वाले कोई नजर नहीं आ रहे हैं अब देखना यह है इस बार भाजपा सपा किसको अपना उम्मीदवार बनाती है और इस बार कौन नगर पंचायत की कुर्सी पर कब्जा करेगी। यह तो समय ही बताएगा अभी तो टिकट पाने को मारामारी मची है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*