कार्यवाहक शहर अध्यक्ष ने बुलाई आपात बैठक

आगरा| कांग्रेस पार्टी में आजकल कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। कांग्रेस हाईकमान ने रविवार को शहर अध्यक्ष की पावर में कटौती कर कार्यकारी शहर अध्यक्ष हाजी जमीलुद्दीन को नियुक्त कर दिया। कार्यवाहक शहर अध्यक्ष नियुक्त होते ही हाजी जमीलुद्दीन ने सोमवार को वरिष्ठ कांग्रेसियों की एक आवश्यक मीटिंग बुलाई।

इस मीटिंग में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे। बैठक के दौरान नगर निकाय चुनाव में पार्टी को कैसे जीत मिले इसको लेकर चर्चा की गई। चर्चा का विषय संगठन में चल रही खीचतान और आपसी विवाद भी रहा। एक तरफ जहां लोग नगर निकाय चुनाव में दमखम के साथ जुटने की बात कह रहे थे तो वही वरिष्ठ कांग्रेसियो ने अपने विचार रखते हुए कांग्रेस पार्टी में कुछ भी ठीक ना चलने की बात कह डाली।

यह इशारा मुख्य रूप से शहर अध्यक्ष की ओर था लेकिन खुलकर कोई नहीं बोला। वरिष्ठ कांग्रेसियों का कहना था कि अगर पार्टी में एकजुटता सद्भावना के साथ काम किया जाए तो इस बार भाजपा के विरुद्ध बन रहे माहौल को भुनाया जा सकता है लेकिन अगर आपसे खींचतान नहीं रुकी तो यह कांग्रेस के लिए घातक साबित हो सकता है। इस पूरे मुद्दे को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मून ब्रेकिंग ने खास बातचीत की। बैठक के दौरान कार्यवाहक शहर अध्यक्ष का कहना था कि बैठक का मुख्य उद्देश्य संगठन को मजबूत करना और निकाय चुनाव कैसे जीता जाए इस पर रणनीति बनाना था। जिससे जनसम्पर्क के दौरान सामने आ रही कमजोरियों को दूर किया जा सके। वहीं कुछ लोगों का कहना था कि हाल ही में ऐसा देखने को मिला कि संगठन और प्रत्याशी के बीच तालमेल नहीं है

जिसका असर नगर निकाय चुनाव पर दिख रहा था। फिलहाल वरिष्ठ कांग्रेसी हाईकमान के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं और एक के साथ एक और मुस्लिम अध्यक्ष मिलने से काफी उत्साहित है। उनका कहना था कि हाईकमान के इस फैसले से पूरा मुस्लिम समाज कांग्रेस से जुड़ेगा और आपसी खींचतान के चलते कार्यकर्ताओं की भी अनदेखी नहीं होंगी क्योंकि दो अध्यक्ष होने के बाद कोई न कोई अध्यक्ष कार्यकर्ताओं की सुनेगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*