भगवान गणेश बने बाहुबली और फुटबॉलर, देखें ख़बर

आगरा। सोमवार से गणेश उत्सव पूरे देश में मनाया जाना है। 11 दिन के गणेश उत्सव को लेकर पूरे देश में बड़ा हर्षोल्लास है। ताजनगरी की हम बात करें तो यहां भी गणेश महोत्सव को लेकर लोगों में बड़ा हर्षोल्लास देखा जा रहा है। जहां एक तरफ पीओपी यानी प्लास्टर ऑफ पेरिस की भगवान गणेश की मूर्तियां बाजारों में बिक रही है तो वहीं कोलकाता से आए कलाकार इको फ्रेंडली यानी प्योर मिट्टी और पानी के कलर से भगवान गणेश की मूर्तियों को बना रहे हैं। कोलकाता के कलाकारों द्वारा बनाई जा रही मूर्तियों की एक और खासियत है। कलाकारों ने इस बार मूर्ति बनाने में एक विशेष थीम रखी है।

मूर्ति बनाने वाले कोलकाता के कलाकारों का कहना है कि जहां माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार गंगा यमुना या समुद्र में पीओपी से बनी मूर्तियों के विसर्जन पर रोक है। इसीलिए इको फ्रेंडली मिट्टी की मूर्तियों को बनाया जा रहा है।

कोलकाता के कलाकार आगरा में डेरा डालकर विशेष तरीके की भगवान गणेश की मूर्तियां बना रहे हैं जिसमें भगवान गणेश अनेकों रूप में नजर आ रहे हैं। कोलकाता के कलाकारों द्वारा बनाई जा रही भगवान गणेश की मूर्तियों में भगवान गणेश कहीं फुटबॉलर बन गए हैं तो कहीं बाहुबली बन गए हैं। इतना नहीं पंडालों में केंद्र सरकार द्वारा कश्मीर से हटाई गई धारा 370 और 35 ए का क्रेज भी भगवान गणेश की मूर्तियों में दिख रहा है।

कोलकाता के कलाकारों द्वारा भगवान गणेश की जो मूर्तियां बनाई जा रही हैं। यह मूर्तियां 3 फीट से लेकर 16 और 20 फीट तक बनाई जा रही है। हालांकि कलाकारों का कहना है कि मिट्टी की मूर्तियों की बिक्री कम हो रही है। क्योंकि पीओपी की मूर्तियां सस्ती हैं। मगर लोगों को ऐसे में जागरूकता लाने की जरूरत है कि पीओपी की मूर्ति से जहां जल प्रदूषण होता है तो वहीं जीव जंतु को भी खतरा बना रहता है।

About admin 1574 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*