अयोध्या मामले को लेकर प्रशासन सख़्त, ड्रोन व सीसीटीवी से रखी जा रही है पूरे शहर पर नज़र

आगरा। राम मंदिर मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले को लेकर पुलिस व प्रशासन मुस्तेद नजर आ रहा है। प्रशासन और पुलिस के अधिकारी जहाँ हर क्षेत्र में पीस कमेटी के साथ बैठक कर रहे है तो पुलिस भी संदिग्धों पर नजर बनाए हुए है जिससे अयोध्या मामले पर आने वाले फैसले के बाद कोई अप्रिय घटना न हो। राम मंदिर मामले में आने वाले फैसले को लेकर धर्मस्थलों की निगरानी पर जोर दिया जा रहा है। पुलिस प्रशासन सीसीटीवी और ड्रोन के माध्यम से धार्मिक स्थलों और संवेदनशील स्थानों की निगरानी की जा रही है।

अयोध्या मामले को लेकर प्रशासन हर पहलू को साथ लेकर चल रहा है। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हर स्तर से तैयारियां हो रही हैं। सभी अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गई हैं और मुख्यालय ना छोड़ने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। एक दर्जन से ज्यादा अस्थाई जेलों को भी बनाया गया है जिससे अयोध्या मामले से पहले और उसके बाद कोई विवादास्पद स्थिति होती है तो अप्रिय घटना को अंजाम देने वाले लोगों पर कार्रवाई कर उन्हें वहां रखा जा सके।

मंडलायुक्त अनिल कुमार का कहना है कि एक तरफ जहां धार्मिक स्थलों और संवेदनशील स्थानों का चयन कर उन पर ड्रोन व सीसीटीवी के माध्यम से नजर रखी जा रही है तो वहीं अधिकारियों को भी दिशा निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने अपने क्षेत्रों पर नजर बनाए रखें और किसी भी तरह की अफवाह को ना फैलने दें।

आईजी रेंज ए सतीश गणेश ने साफ कहा कि अयोध्या मामले पर चाहे जो भी फैसला है लेकिन फैसला आने के बाद कोई व्यक्ति कानून व्यवस्था को प्रभावित करेगा तो उसे पाबंद किया जाएगा। वहीं लोगों से भी अपील की गई है कि अगर आपके क्षेत्र में कोई अफवाह फैलाता है या फिर लोगों को उकसान का काम करता है तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें।

About admin 1953 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।