Home agra बकरीद से पहले हाट में सुल्तान, मुल्तान से महंगा बिका कप्तान

बकरीद से पहले हाट में सुल्तान, मुल्तान से महंगा बिका कप्तान

by admin
Sultan in Haat before Bakrid, captain sold more expensive than Multan

आगरा। बकरीद से पहले आखिरी हाट में सबसे महंगे बिका कप्तान। कुआंखेड़ा में हाट में सुल्तान, मुल्तान को पीछे छोड़ा। इन नस्लों की ज्यादा रही डिमांड।

ईद-उल-अजहा (बकरीद) अगले रविवार को है। ऐसे में रविवार को कुआं खेड़ा में बकरीद से पहले कल यानि रविवार को पशु हाट लगी जिसमे कप्तान नाम का बकरा 1.05 लाख में बेचा गया। वही फतेहाबाद के छोटेलाल के शाहिद और सलमान 35 और 40 हजार में बिक गए। इसहाक में सबसे अधिक कीमत का कप्तान ही बिका था लेकिन इस बीच सबसे ज्यादा बरबरा और तोतापरी नस्ल के बकरों की डिमांड रही।

महंगा बिका कप्तान
दूरदराज से व्यापारी अपने बकरों को लेकर आए थे। रुड़की के जफर गोट फॉर्म के मालिक जफर ठेकेदार अपने साथ तोतापरी नस्ल के तीन बकरे सुल्तान, मुल्तान और कप्तान लेकर आए थे। उन्होंने बताया कि सुल्तान की कीमत 3.40 लाख रुपये, जबकि मुल्तान की 3.20 लाख रुपये है। दोनों बकरों को कोई खरीदार नहीं मिल सका। कप्तान को एक लाख पांच हजार रुपये में बेचा गया।

रात तक चलती रही खरीदारी
रविवार रात को हींग की मंडी में बकरों की मंडी लगाई गई। इसमें भी 500 से ज्यादा बकरे बिक्री के लिए आए। ढोलीखार, मंटोला, नाई की मंडी, गुलाबखाना, हींग की मंडी, महावीर नाला समेत आसपास के लोग बकरों की खरीदारी करने पहुंचे।

इसलिए होती है बकरे की कुर्बानी
इस्लाम मजहब की मान्यताओं के अनुसार, कहा जाता है कि पैगंबर हजरत इब्राहिम से ही कुर्बानी देने की प्रथा शुरू हुई थी. कहा जाता है कि अल्लाह ने एक बार पैगंबर इब्राहिम से कहा था कि वह अपने प्यार और विश्वास को साबित करने के लिए सबसे प्यारी चीज का त्याग करें और इसलिए पैगंबर इब्राहिम ने अपने इकलौते बेटे की कुर्बानी देने का फैसला किया था।

कहते हैं कि जब पैगंबर इब्राहिम अपने बेटे को मारने वाले थे। उसी वक्त अल्लाह ने अपने दूत को भेजकर बेटे को एक बकरे से बदल दिया था। तभी से बकरा ईद अल्लाह में पैगंबर इब्राहिम के विश्वास को याद करने के लिए मनाई जाती है। इस त्योहार को नर बकरे की कुर्बानी देकर मनाते हैं। इसे तीन भागों में बांटा जाता है, पहला भाग रिश्तेदारों, दोस्तों और पड़ोसियों को दिया जाता है। दूसरा हिस्सा गरीबों और जरूरतमंदों और तीसरा परिवार के लिए होता है।

बकरे इस बार ज्यादा महंगे:-
हिंदुस्तानी बिरादरी के अध्यक्ष डॉ. सिराज कुरैशी ने बताया कि बकरे इस दफा ज्यादा महंगे हैं। 25 हजार से कम का अच्छा बकरा नहीं है। हींग की मंडी में 25 हजार से एक लाख रुपये तक के बकरे खरीदे गए।

अगर आप हमारे न्यूज़ ब्रेकिंग के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ना चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करके हमें सपोर्ट करें, धन्यवाद…

https://chat.whatsapp.com/Bd1V2ia1YGyCMbk8QApuWF

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: