Home आगरा आसपास ‘पॉकेट में इश्क़’ : हर दिल के प्यार की खुली किताब है हर कहानी

‘पॉकेट में इश्क़’ : हर दिल के प्यार की खुली किताब है हर कहानी

by admin

आगरा। ताजनगरी के साहित्यकार आगरा से बाहर निरंतर आगरा का नाम रोशन कर रहे हैं। इस क्रम में यह समाचार है साहित्य अकादमी सभागार, नई दिल्ली से जहां ताज नगरी की बेटी और दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारी अंशुल अग्रवाल की धर्मपत्नी रेनू ‘अंशुल’ के प्रलेक प्रकाशन, मुंबई से प्रकाशित तीसरे कहानी संग्रह ‘पॉकेट में इश्क़’ का लोकार्पण देश के जाने-माने साहित्यकारों की उपस्थिति में किया गया।

समारोह का संचालन प्रलेक प्रकाशन के जितेंद्र पात्रो ने किया। समारोह का संयोजन दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के रिटायर्ड वरिष्ठ अधिकारी अंशुल अग्रवाल ने किया। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि संग्रह की हर कहानी प्रेम की चासनी में डूबी जलेबियों की तरह है। हर कहानी हर दिल के प्यार की खुली किताब है।

अध्यक्षीय उद्बोधन में साहित्य अकादमी से जुड़े वरिष्ठ कथाकार और समालोचक महेश दर्पण ने कहा कि जो काम अमृता प्रीतम, मंटो और इस्मत चुगताई ने अपने जमाने में किया था, उसी परंपरा का निर्वाह आज रेनू ‘अंशुल’ कर रही हैं। यह संग्रह प्रेम के जरिए अपने समय और तेज रफ्तार समाज की खूबसूरत समीक्षा है। उन्होंने कहा कि आज के कठिन- कड़वे यथार्थवादी समय में प्रेम को रचना कर्म का विषय बनाना सराहनीय है।

प्यार की कोई उम्र नहीं…

इस मौके पर रचनाकार रेनू ‘अंशुल’ ने कहा कि प्यार की कोई उम्र नहीं होती। उम्र के जिस किसी भी मोड़ पर यह कीमती प्यार मिल जाए, बस उसे सहेज लो क्योंकि प्यार ही जिंदगी है। उन्होंने कहा कि आजकल के भागदौड़ और भौतिकवादी समय में किसी का प्यार भरा साथ ही आपको सब परेशानियों से जूझने का हौसला देता है।

इस दौरान वरिष्ठ कथाकार और समालोचक महेश दर्पण, बलराम अग्रवाल, डॉ. नागर, सुभाष अखिल, राजकमल, अवधेश श्रीवास्तव, डॉ. सुधेन्दु ओझा, प्रलेक प्रकाशन से जितेंद्र पात्रो, अंशुल अग्रवाल, श्रीमती रेनू ‘अंशुल’, अनन्या अग्रवाल और अजीता अग्रवाल प्रमुख रूप से मौजूद रहीं।

मून ब्रेकिंग के व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें –
https://chat.whatsapp.com/BpgZvsh7qm0LQz2pRz3FW6

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: