Home आगरा इंडियन काउंसिल ऑफ कैमिस्ट्स के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का शुभारंभ

इंडियन काउंसिल ऑफ कैमिस्ट्स के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का शुभारंभ

by admin

आगरा। इंडियन काउंसिल ऑफ कैमिस्ट्स के तीन दिवसीय 41वे राष्ट्रीय अधिवेशन की शुरुआत आज होटल क्लार्क शिराज में हुई, जिसका ऑनलाइन उद्घाटन उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और उच्च शिक्षा मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय ने दीप प्रज्वलित कर किया।

इस अवसर राजभवन से ऑनलाइन माध्यम से उपस्थित प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत को महाशक्ति बनाएगी। अधिवेशन के बारे में बोलते हुए कहा कि इस प्रकार के शैक्षिक क्रिया कलापों के अंग होते हैं तथा निरंतर आयोजित होते रहना चाहिए। इससे समाज पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कोरोना के बढ़ते प्रभाव पर चिंता व्यक्त करते हुए इससे सावधान रहने के लिए सभी को आगाह किया। उन्होंने भारत के जी 20 देशों की अध्यक्षता करने पर सभी को बधाई दी।

विशिष्ट अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय ने कहा कि इतने रसायन शास्त्री एक स्थान पर एकत्रित हुए हैं तो निश्चित ही रसायन शास्त्र की शोध को नई दिशा मिलेगी। आने वाले समय वैश्विक पटल पर भारत की क्या भूमिका होगी, इसके लिए वैज्ञानिकों को अपनी सार्थक और सक्रिय भूमिका निभाई होगी।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए डॉ भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो आशू रानी ने कहा कि वर्ष 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए हमारे रसायन शास्त्रियों को कमर कसनी होगी और भारत के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करना होगा। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि शिक्षा और शोध को बढ़ावा देना होगा।

आईसीसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व कुलपति प्रो गिरीश चंद्र सक्सेना ने संस्था के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत को विश्वगुरु बनाने के लिए युवाओं को आगे आना होगा। उन्होंने भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए वैज्ञानिकों से नए शोध करने के लिए आव्हान किया।

रसायन विज्ञान के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड मुंगेर विवि बिहार के प्रो रंजीत कुमार वर्मा को प्रदान किया गया।

समारोह में अतिथियों ने अधिवेशन की पत्रिका का विमोचन किया, जिसका संपादन प्रो एससी गोयल ने किया।आईसीसी के महामंत्री एवं महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय भरतपुर के कुलपति प्रो राजेश धाकरे ने संस्था की वार्षिक आख्या प्रस्तुत की। संयोजक प्रो अजय तनेजा ने संचालन तथा कोषाध्यक्ष प्रो मनोज रावत ने आभार व्यक्त किया।

ज्ञात हो कि आईसीसी का यह अधिवेशन रसायन विभाग, डा भीमराव आंबेडकर विवि, आगरा के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया जा रहा है। तीन दिन तक चलने वाले इस अधिवेशन में देश के विभिन्न राज्यों के 50 विश्वविद्यालयों के 350 शोधार्थी, वैज्ञानिक एवं शिक्षक भाग ले रहे हैं।

अवार्ड विजेताओं की सूची

  1. लाईफ टाईम अचीवमेंट अवॉर्ड- प्रो रंजीत कुमार वर्मा
  2. प्रो. वहिदउद्दीन मालिक मेमोरियल अवॉर्ड – प्रो सरताज तबस्सुम
  3. प्रो एसपी हीरामत अवॉर्ड – प्रो शिंपी नवीनचंद्र गोपाल
  4. डॉ अरविंद कुमार मेमोरियल अवॉर्ड – डा नागराजा पी. शेट्टी
  5. प्रो काजा सोमसेखरा राव अवॉर्ड- डॉ निमिषा जादौन
  6. प्रो एस. टी नंदीबेवुर अवॉर्ड – प्रो. राजकिशोर शर्मा
  7. प्रो एसएमएल गुप्ता अवॉर्ड – प्रो वीएस श्रीवास्तव

प्रो एपी मिश्रा, प्रो एनबी पटेल, प्रो सीपी भसीन, प्रो अली मोहम्मद, प्रो रंजीत कुमार ने सभी अवार्ड विजेताओं के प्रशस्त्रि पत्रों का वाचन किया।

उद्घाटन समारोह में प्रो देवेंद्र कुमार, प्रो गौतम जैसवार, प्रो अमित अग्रवाल, प्रो आशीष कुमार, प्रो विनोद कुमार, डॉ भूपेंद्र सिंह, डॉ संध्या अग्रवाल, डॉ प्रशांत पचौरी, चेतन गौतम, डॉ संगीता, डॉ आकाश आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

अधिवेशन के मीडिया समन्वयक प्रो अमित अग्रवाल ने बताया कि दूसरे दिन एक सिंपोजियम का आयोजन किया जाएगा, जिसका विषय “मेटेरियल, हेल्थ एंड एनवायरमेंट” है। बुधवार को शोधार्थी अपने शोध पत्र भी प्रस्तुत करेंगे। अधिवेशन के शेष दो दिन के सभी कार्यक्रम बेसिक विज्ञान संस्थान खंदारी पर आयोजित किए जाएंगे।

मून ब्रेकिंग के व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें –
https://chat.whatsapp.com/BpgZvsh7qm0LQz2pRz3FW6

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: