Home देश-विदेश 21 जून से करिए भारत से नेपाल तक की धार्मिक यात्रा

21 जून से करिए भारत से नेपाल तक की धार्मिक यात्रा

by admin
Do religious journey from India to Nepal from 21st June

आगरा (14 May 2022 Agra News)। 21 जून से करिए भारत से नेपाल तक की धार्मिक यात्रा। आईआरसीटीसी ने जारी किया पैकेज।

आईआरसीटीसी की ओर से धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आधुनिक साज सज्जा से तैयार की गई वातानुकूलित भारत गौरव ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। यह ट्रेन प्रभु श्रीराम में आस्था रखने वाले श्रद्धालुओं के लिए महत्वपूर्ण होगी क्योंकि यह ट्रेन श्री रामायण यात्रा से जुड़े स्थलों का दर्शन कराएगी। इस यात्रा की शुरुआत 21 जून से होगी जो 18 दिनों के लिए टूर पर होगी।

भारत से नेपाल तक की धार्मिक यात्रा वाली ट्रेन
भारतीय रेलवे ने नेपाल रेलवे के सहयोग से जनकपुर तक रेल सेवा का संचालन शुरू किया है। यह पहली ट्रेन होगी, जो सीधे भारत से नेपाल जाएगी। इस ट्रेन के माध्यम से भारतीय रेलवे ने नेपाल रेलवे को भी अपनी कनेक्टिविटी से जोड़ लिया है। इस टूर को पूरा करने में लगभग 8000 किलोमीटर की यात्रा पूरी करेगी। भारत गौरव पूरी तरह से वातानुकूलित है। ट्रेन में यात्रियों के मनोरंजन व यात्रा की जानकारी के लिए इन्फोटेनमेंट सिस्टम मौजूद है। सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड व सीसीटीवी कैमरे प्रत्येक कोच में लगाए गए हैं। साथ ही आधुनिक किचन कार से यात्रियों को उनकी बर्थ पर ही शाकाहारी स्वादिष्ट भोजन भी मिलेगा।

18 दिनों में यहां का पर्यटक करेंगे भ्रमण
भारत गौरव ट्रेन 21 जून से दिल्ली के सफदरजंग से शुरू होगी, जिसका टूर 18 दिनों का होगा। जो दिल्ली से शुरू होगा। यह ट्रेन सबसे पहले अयोध्या में राम जन्मभूमि और हनुमान मंदिर व नंदीग्राम में भरत मंदिर के दर्शन कराएगी। इसके बाद यह ट्रेन बक्सर पहुंचेगी, जहां विश्वामित्र व उनके आश्रम रामरेखा घाट पर यात्री गंगा स्नान कर सकेंगे। यहां से ट्रेन जयनगर होते हुए जनकपुर पहुंचेगी। यहां रात्रि विश्राम होगा। राम जानकी मंदिर के दर्शन प्राप्त होंगे। जनकपुर से सीतामढ़ी में जानकी जन्म स्थान के दर्शन कराए जाएंगे।

काशी भी पैकेज में
ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी होगी। पर्यटक बसों द्वारा काशी के प्रसिद्ध मंदिरों सहित चित्रकूट की यात्रा करेंगे। काशी में ही रात्रि विश्राम होगा। चित्रकूट से चलकर यह ट्रेन नासिक पहुंचेगी। वहां पंचवटी व त्रयंबकेश्वर मंदिर का भ्रमण होगा। यहां से फिर प्राचीन किष्किंधा नगरी जाएगी, जहां अंजनी पर्वत स्थित हनुमान जन्म स्थल व अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक व विरासत मंदिरों के दर्शन कराए जाएंगे। वहीं पर रामेश्वरम स्टैंड का अगला पड़ाव होगा। रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर धनुष्कोड़ी के दर्शन कराए जाएंगे। रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन कांचीपुरम पहुंचेगी, जहां शिव कांची विष्णु कांची और कामाक्षी माता देवी के दर्शन कराए जाएंगे। इसका अंतिम पड़ाव तेलंगाना राज्य में स्थित भद्राचलम होगा, जिसे दक्षिण के अयोध्या के नाम से जाना जाता है। यह ट्रेन 18वें दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी।

देखो अपना देश पहल के तहत चलाई जा रही है ट्रेन
भारत गौरव पर्यटक ट्रेन भारत सरकार की पहल देखो अपना देश के अनुरूप घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए चलाई जा रही है। आईआरसीटीसी ने इस 18 दिनों की यात्रा के लिए 62370 प्रति व्यक्ति शुल्क निर्धारित किया है। इस टूर पैकेज की कीमत में यात्रियों को रेल यात्रा के अतिरिक्त स्वादिष्ट शाकाहारी भोजन बसों पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था गई है।

इस तरह से करें बुकिंग
आईआरसीटीसी टूर की बुकिंग प्रक्रिया को सुगम बनाने व ग्राहकों के लिए इसे और अधिक आकर्षक बनाने के लिए पेटीएम व रेजरपे जैसी पेमेंट गेटवे संस्थाओं से करार किया है। जिसे टूर की राशि का भुगतान आसान किस्तों में किया जा सके। भुगतान के लिए कुल राशि को 3,6,9 12, 18 और 24 महीनों की किस्तों में पूरा किया जा सकता है। किस्तों में भुगतान किए सुविधा डेबिट व क्रेडिट कार्ड के माध्यम से बुकिंग करने पर उपलब्ध होगी। लोग आईआरसीटीसी की वेबसाइट www.irctctourism.com पर ऑनलाइन बुकिंग की जा सकती है।

कोविड-19 के नियमों का होगा पालन
आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि यात्रा के दौरान कोविड-19 का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। आईआरसीटीसी सभी पर्यटकों को फेस मास्क, हैंडग्ल्बस के साथ सुरक्षा किट प्रदान करेगी। यात्रा की बुकिंग के लिए 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के प्रत्येक यात्री को कोविड-19 के के दोनों डोज लगा होना अनिवार्य है।


Related Articles