राहुल गांधी ने ntpc के घायलों और मृतकों के परिजनों से की मुलाकात, दी सांत्वना

रायबरेली। उत्तर प्रदेश के रायबरेली NTPC में हुई दर्दनाक हादसे ने सबको हिला कर रख दिया है। सभी पार्टियां इस घटना को लेकर अपनी संवेदनाएं प्रकट कर चुकी हैं। खासतौर से कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी का रायबरेलीे का संसदीय क्षेत्र होने से कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात का चुनावी दौरा बीच में छोड़ गुरुवार सुबह रायबरेली पहुँच गए जबकि तबियत खराब होने के कारण सोनिया गांधी वहाँ नहीं पहुँच सकीं।

राहुल गांधी ने बॉयलर हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। बुधवार को NTPC के बॉयलर में हुए जबर्दस्त धमाके में अब तक करीब 26 लोगों की मौत हो चुकी है और सैकड़ों मजदूर घायल हुए हैं जिनका आंकड़ा बढ़ भी सकता है। 

रायबरेली पहुंचते ही सबसे पहले राहुल गांधी पोस्टमॉर्टम गृह पहुंचे और मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। राहुल गांधी ने उनका दर्द बांटा साथ ही उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इसके बाद राहुल गांधी ने एनटीपीसी प्लांट का भी दौरा किया और अधिकारियों से सारी घटना की जानकारी ली।

इस बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष ने स्थानीय अस्पताल में भर्ती घायलों से भी मुलाकात की और गंभीर रूप से घायल मजदूरों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर दिल्ली भेजने पर जोर दिया।

बताया जाता है कि रायबरेली ऊंचाहार एनटीपीसी में 500 मेगावॉट की यूनिट नंबर 6 के बॉयलर का स्टीम पाइप फटने से बुधवार को हादसा हुआ था। इस दर्दनाक हादसे में 200 से ज्यादा वर्कर्स घायल हुए हैं। इन घायलों को तुरंत इलाज के लिए रायबरेली, इलाहाबाद के साथ लखनऊ भेजा गया।

एक घायल मजदूर ने राहुल गांधी कोे बताया कि हादसे के वक्त करीब 25 लोग बॉयलर के काफी करीब थे। बॉयलर फटते ही कई लोग वहीं राख के मलबे में दब गए। इनमें से कुछ के शरीर क्षत-विक्षत हो गए। मेडिकल विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे मामलों में गर्म राख के नाक और मुंह के रास्ते तेज रफ्तार से फेफड़ों तक पहुंच जाने से भी मौत हो सकती है।

एक चश्मदीद ने हादसे की भयावहता को बयां करते हुए कहा कि पाइप से निकली राख से दस मीटर दूरी पर बॉयलर में मौजूद लोग मर-मर कर गिर रहे थे। चारों ओर धुआं-धुआं था। हवा में सिर्फ और सिर्फ राख ही तैरती दिख रही थी। पार्टी उपध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे दर्दनाक हादसा बताया है पीडितों व घायलों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*