क्यों उतरेगा भगवा का सिपाही खुद भाजपा के खिलाफ

आगरा। जनप्रतिनिधि बनने के लिए कई राजनीतिक पार्टियों को बदल कर राजनीति में अपनी किस्मत आजमा चुके किसान नेता राजकुमार चाहर अब एक बार फिर अपने जमीनी स्तर पर लौट कर किसानों की सेवा करने की बात कह रहे हैं।

किसान सेना के संयोजक राजकुमार चौहान नए प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि वह अब संपूर्ण किसान समाज की विभिन्न समस्याओं के लिए लड़ाई लड़ेंगे। इसके लिए उन्होंने 7 फरवरी को अपने निवास पर किसान सेना की एक बैठक आयोजित की है जिसमें किसान सेना के पदाधिकारी किसानों की विभिन्न समस्याओं पर वार्ता करेंगे और इन समस्याओं को लेकर 12 फरवरी को सैकड़ों किसानों के साथ जिला मुख्यालय का घेराव कर जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपेंगे। किसान सेना के संयोजक का कहना था कि भाजपा में भी किसानों का शोषण हो रहा है।

उनका कहना था कि इस समय आलू किसान पूरी तरह से बर्बाद हो गया है। पुलिस और तहसील प्रशासन किसानों का शोषण कर रहा है तो बिजली और नहर विभाग भी किसानों के उत्पीड़न में पीछे नजर नहीं आ रहा है।

प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने अपना दर्द भी पत्रकारों के सामने रखा। उनका कहना था कि 3 विधानसभा चुनाव हुए। उनकी इच्छा थी कि विधायक बनकर किसानों की सेवा करें लेकिन शायद यह उनकी किस्मत में नहीं है इसलिए वह एक बार फिर किसान सेना के संयोजक होने के नाते किसानों की सेवा में जुड़ेंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*