सर्किट हाउस सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों के क्यों फूले हाथ-पाँव

आगरा। पहले एमजी रोड से ऑटो बंद किए गए और उसके बाद जिला प्रशासन ने एमजी रोड से मयूरी बंद करने का भी फैसला ले लिया है। एमजी रोड से मयूरी बंद किए जाने के से सभी मयूरी चालकों में जिला प्रशासन के खिलाफ तीखा आक्रोश है। पिछले 1 हफ्ते से सभी मयूरी चालक जिला प्रशासन के खिलाफ आंदोलन प्रदर्शन और धरना कर रहे हैं। लव पंडित के नेतृत्व में सभी मयूरी चालक धरना प्रदर्शन और आंदोलन कर रहे हैं।

शनिवार को भी सैकड़ों मयूरी चालक लव पंडित नेतृत्व में एमजी रोड पर प्रदर्शन करते हुए सीधे सर्किट हाउस पहुंचे। जब मयूरी चालक सर्किट हाउस पर पहुंचे तब प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य नहीं आए थे और सैकड़ों मयूरी चालकों को सर्किट हाउस में घुसते देख पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। एसपी सिटी-एएसपी से लेकर तमाम पुलिस के आला अफसर मयूरी चालकों को रोकने के प्रयास करने लगे मगर मयूरी चालकों का कहना था कि वह प्रदेश के उपमुख्यमंत्री के सामने अपना रोना रोएंगे और एम जी रोड पर मयूरी चलाने की मांग करेंगे। चाहे पुलिस ने जेल क्यों ना भेज दे। करीब आधे घंटे तक जद्दोजहद चली।

मयूरी चालक सर्किट हाउस में घुसने का प्रवेश कर रहे थे तो पुलिस ने रोकने का प्रयास कर रही थी। इसके बाद एसपी सिटी मयूरी चालकों की समस्याएं सुनी और उन्हें आश्वासन दिया कि उनकी समस्या का निराकरण करा दिया जाएगा। पुलिस और प्रशासन के आला अफसरों के आश्वासन के बाद मयूरी चालक बैकफुट पर आएं और अपना धरना को समाप्त किया गया मगर मयूरी चालकों के साथ लव पंडित ने ऐलान कर दिया है कि अगर एम जी रोड पर मयूरी नही चली तो मयूरी चालकों के साथ आने वाले दिनों में प्रदर्शन किया जाएगा जिसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*